Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura: पवित्र और चमत्कारी मंदिर जो पर्यटकों का मन मोह लेता है!

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura: आज हम जानने वाले हैं Dadar Dham के बारे में जो की बहुत ही खूबसूरत और बहुत ही सुंदर जगह है। यह ब्लॉग आप सभी को बहुत पसंद आएगा।

चलिए अब चलते हैं Jagjivan Baba Dadar Dham जहा की हसीन वादियों का आपको रूप दिखाते हैं, प्रकृति की खूबसूरती का एक अनोखा नाम एक सुनहरा पहाड़ जिसकी गोद में खेलते हैं पशु पक्षी जीव जंतु और पेड़ पौधे दोस्तों जयपुर से तकरीबन 20 किलोमीटर दूर आमेर क्षेत्र के गांव जयरामपुरा में दादर पर्वत स्थित है।

Jagjivan Baba Dadar Dham
जगजीवन बाबा दादर धाम

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura: दादर धाम चमत्कारी मंदिर

दादर पर्वत पर दादू दयाल जी का मंदिर है साथ ही शिव मंदिर और एक प्राचीन गुफा भी है दोस्तों इस पवित्र धाम को जगजीवन धाम के नाम से भी जाना जाता है यहां के लोगों का मानना है की बहुत समय पहले जगजीवन बाबा ने यहां की गुफा में तपस्या और साधना की थी इस वजह से इस गुफा को चमत्कारी गुफा भी कहते हैं.

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
जगजीवन बाबा दादर धाम

Jagjivan Baba Dadar Dham जहा पर 3 मंदिर स्थित है पहला दादू दयाल जी का दूसरा देवो के देव महादेव जी का मंदिर और तीसरा जगजीवन बाबा जी का मंदिर है जो यहां प्राचीन गुफा के साथ स्थित है तो आगे आपको यह तीनों मंदिरों का दर्शन करवाते हैं।

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
शिव मंदिर दादर धाम

क्यों प्रसिद्ध है Jagjivan Baba Ka Mandir

दादू दयाल महाराज मंदिर में जो चित्रकारी और कलाकृतियां बनी हुई है पूरे राजस्थान में प्रसिद्ध है इन कलाकृतियों और चित्रकारी को देखने के लिए मंदिर में आते हैं।

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
Jagjivan Baba Temple Architecture

अब बात करते हैं दादर धाम के मुख्य मंदिर की यहां का मुख्य मंदिर दादू दयाल जी का मंदिर है इस मंदिर के संस्थापक जयराम दास जी महाराज थे जिनका समाधि स्थल भी इसी पहाड़ पर है इन्हें फलारी बाबा के नाम से भी जाना जाता है।

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
जग जीवन बाबा की जीवन कथा

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura- जयपुर के पास इतना सुन्दर मंदिर

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
मंदिर की पहाड़ी से मनोरम दृश्य

दोस्तों अगर बात करें इस पर्वत के दृश्य की तो पर्वत पर चढ़ने के बाद यहां के गांव का हसीन नजारा देखने को मिलता है चारों तरफ की हरियाली यहां आए पर्यटकों का मन मोह लेती है और लोगों को अपनी और आकर्षित करती है अति सुंदर दृश्य को देखने के लिए हजारों की तादाद में लोग यहां पर आते हैं और यह तादात बरसात के दिनों में और भी बढ़ जाती है क्योकि बरसात के दिनों में यहाँ चारो तरफ हरियाली ही हरियाली देखने को मिलती है और यह लोगो के दिलो को यहाँ खींच लेन में मजबूर कर देती है।

आपको यहाँ आकर एक अलग ही शांति का अनुभव होगा और आप यहाँ अपने परिवार के साथ शांति और नेचर में समय बिता सकते हो।

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
जग जीवन बाबा

जग जीवन बाबा की जीवन कथा- Life Story of Jagjivan Baba Dadar

तो चलिए दोस्तों अब बात करते हैं जग जीवन बाबा की जीवन कथा के बारे में –

Jagjivan Baba Dadar Dham– जगजीवन बाबा उच्च कोटि के संत थे बचपन से ही उनका ध्यान ईश्वर की तपस्या और साधना में लगा रहता था जगजीवन बाबा इस पर्वत पर गायों को चराया करते थे।

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura
जग जीवन बाबा की जीवन कथा

बात उस समय की है जब जगजीवन बाबा बचपन में जब गाय चरा रहे थे तो उन्हें 2 संतो से मिलना नसीब हुआ संतो ने बाबा से चिलम पीने के लिए चिंगारी मांगी तो जग जीवन बाबा ने घर से चिंगारी लेने का वादा किया बाबा ने सोचा संत भूखे प्यासे होंगे तो संतों के लिए दो गिलास दूध भी ले चलते हैं। दोनों संतो ने बाबा का यह आदर सत्कार देखकर उन्हें वचन दिया जाओ बेटा तुम अपने घर जाओ तुम्हें दूध के भरे भंडार मिलेंगे। जगजीवन बाबा जब घर जाकर देखें तो उन्हें दूध के भरे भंडार मिले तब जगजीवन बाबा उन संतों के पीछे दौड़े और उन्होंने सन्यासी रूप धारण किया।

Jagjivan Baba ki Gufa

दोस्तों यह जो गुफा आप देख रहे हैं यह जगजीवन बाबा की प्राचीन गुफा है जो एक पहाड़ के नीचे बनी हुई है इस गुफा में जगजीवन बाबा ने आजीवन तपस्या की थी।

Jugjivan Baba ki Ghufa Dadar Dham
Jagjivan Baba ki Gufa

आज हमने आपको इस ब्लॉग Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura में दादर धाम के बारे में बताया जो कि बहुत ही खूबसूरत जगह है यहां पर एक प्राचीन मंदिर और एक प्राचीन गुफा है सो प्लीज अगर आपको ब्लॉग पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, कमेंट करें और अपना फीडबैक हमें कमेंट बॉक्स में बताएं और और ब्लॉग भी विजिट करें

Jagjivan Baba Dadar Dham Jairampura

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *