आमेर के किले का रहस्य, इतिहास और घूमने की जानकारी: Amer Fort Jaipur History In Hindi

Amer Fort Jaipur History In Hindi:- नमस्कार दोस्तों, आज के इस Blog (Amber Palace Jaipur History) में हम आमेर किले से जुड़ी पूरी जानकारी के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसे आंबेर किला के नाम से भी जाना जाता है। आज हम जो आमेर का किला देखते हैं, वह एक बार में नहीं बना था, इसे कई बार बनाया गया था। जयपुर से लगभग 11 किमी की दूरी पर अरावली पहाड़ी की चोटी पर स्थित Amer Fort Jaipur राजस्थान के महत्वपूर्ण और सबसे बड़े किलों में से एक है। यह किला अपनी अनूठी स्थापत्य शैली और शानदार संरचना के लिए प्रसिद्ध है। यह राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।

Amer Fort राजस्थान राज्य के गुलाबी शहर जयपुर में अरावली पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह किला अपनी स्थापत्य कला और इतिहास के लिए जाना जाता है। आमेर का किला भारत में इतना मशहूर है कि यहां रोजाना पांच हजार से ज्यादा लोग घूमने आते हैं। राजस्थान की राजधानी से मात्र 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह आमेर किला गुलाबी और पीले बलुआ पत्थर से बना है। यहां आने वाले पर्यटक हर शाम इस किले से अद्भुत नजारा देख सकते हैं। आमेर का किला पर्यटकों और फोटोग्राफरों का स्वर्ग है, इसलिए जब आप राजस्थान की यात्रा पर जाएं तो आमेर का किला देखना न भूलें।

History of Amer fort in Hindi

आइए जानते हैं, राजस्थान के इस विशाल दुर्ग के इतिहास और इससे जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में – Amer Fort Jaipur History In Hindi

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

अंबर पैलेस (Amber Palace) जिसे आमेर किला या अंबर किला (Amber Fort) भी कहा जाता है, जयपुर में स्थित है। यह कुछ भूमिगत सुरंगों का घर है जो आमेर को जयगढ़ किले से जोड़ती हैं।

Contents show

आमेर किला जयपुर, राजस्थान | Amer Fort Jaipur, Rajasthan

Amer Fort Jaipur History In Hindi: पहाड़ी इलाके में बना यह आमेर का किला देखने में बेहद खूबसूरत लगता है। इस Amer Fort के परिसर में घूमने के लिए कई महल, मंदिर, मस्जिद भी देखे जा सकते हैं। यहां घूमने के बाद आप खूबसूरत जगह पर घूमने के साथ-साथ फोटोग्राफी भी कर सकते हैं। इस आमेर किले को देखने के लिए भारत के विभिन्न क्षेत्रों के अलावा विदेशों से भी लोग बड़ी संख्या में आते हैं।

इसकी आकर्षक बनावट और भव्यता को देखते हुए इस किले को विश्व विरासत की सूची में शामिल किया गया है। आमेर का किला, राजस्थान के प्रमुख आकर्षणों में से एक, राजा मान सिंह द्वारा बनवाया गया था। हिन्दू-राजपूताना स्थापत्य शैली से बना यह अनूठा किला समृद्ध इतिहास और भव्य वास्तुकला का अनुपम उदाहरण है।

राजस्थान में स्थित आमेर किले से संबंधित पूरी जानकारी जानने के लिए आप इस लेख में अंत तक बने रहें ताकि आपको इस आमेर किले से संबंधित पूरी जानकारी मिल सके। आइए अपने इस लेख की जानकारी की ओर बढ़ते हैं –

Amer Fort Jaipur, Rajasthan
कहां स्थित है (Amer Fort Location)राजस्थान के जयुपर से करीब 11 किलोमीटर की दूरी पर आमेर में स्थित है।
कब हुआ निर्माण16 वीं शताब्दी
किसने करवाया निर्माण (Amer Fort Built By)राजा मानसिंह, सवाई जयसिंह,  मिर्जा जयसिंह,
Amer Fort Jaipur History In Hindi

Amer Fort Jaipur History In Hindi – आमेर किले का इतिहास हिंदी में

Amer Fort Jaipur History In Hindi (Amer Kile Ka Itihas): हिंदू राजपुताना स्थापत्य शैली से बना Amer Fort राजस्थान के सबसे बड़े किलों में से एक है, जो जयपुर से लगभग 11 किमी दूर अरावली पहाड़ियों पर स्थित है। आमेर के इतिहास और इस किले के निर्माण की चर्चा करने पर ज्ञात होता है कि आमेर सूर्यवंशी कछवा वंश की राजधानी हुआ करती थी, जिसे मीणा नामक जनजाति ने बनवाया था।

इतिहासकारों का कहना है कि राजस्थान का सबसे बड़ा किला राजा मानसिंह प्रथम ने 16वीं शताब्दी में बनवाया था। जिसके बाद करीब 150 साल तक राजा मान सिंह के उत्तराधिकारियों और शासकों ने आमेर किले के विस्तार और जीर्णोद्धार का काम किया।

1727 में सवाई जय सिंह द्वितीय के शासनकाल में जयपुर को राजधानी बनाया गया था। जयपुर हाल ही में उस समय स्थापित किया गया था। जयपुर से पहले आमेर कच्छवाहा वंश की राजधानी थी। भारत के सबसे पुराने किलों में से एक, Amer Fort जयपुर को पहले कदीमी महल के नाम से जाना जाता था। आमेर किले जयपुर के अंदर शीला माता देवी का प्रसिद्ध मंदिर भी है, जिसे राजा मानसिंह ने बनवाया था। कुछ का कहना है कि अंबर किले जयपुर का नाम भगवान शिव के नाम पर अंबिकेश्वर रखा गया था। जबकि कुछ लोग आमेर किले के नाम से मां दुर्गा का नाम अंबा से जोड़ते हैं।

Amer Fort Jaipur History In Hindi

राजस्थान के इस सबसे प्रसिद्ध और भव्य किले में विभिन्न शासकों के समय में किले के अंदर कई ऐतिहासिक संरचनाओं को नष्ट कर दिया गया और कई नई शानदार इमारतों का निर्माण किया गया, लेकिन कई आपदाओं और बाधाओं का सामना करने के बावजूद आज यह आमेर की राजधानी है। किला राजस्थान के गौरव को बढ़ा रहा है और गौरवशाली और समृद्ध इतिहास की याद दिलाता है। कई पुरानी संरचनाओं के नष्ट होने और कई संरचनाओं के निर्माण बाद भी आज भी यह किला कई बाधाओं का सामना करते हुए बड़ी ही शान से खड़ा हुआ है। (Amer Fort Jaipur History In Hindi)

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Amber Fort Architecture In Hindi – आमेर के किले की अनूठी वास्तुकला एवं संरचना

गुलाबी शहर जयपुर से 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आमेर का किला हिंदू और राजपुताना शैली में बनाया गया है। आमेर का किला बाहर से देखने पर मुगल स्थापत्य शैली का बना प्रतीत होता है, लेकिन अंदर से यह किला राजपुताना स्थापत्य शैली का बना हुआ है। आमेर का किला मुगल और हिंदू वास्तुकला का बेजोड़ उदाहरण है। आमेर किले के अंदर प्राचीन स्थापत्य शैली और इतिहास के प्रसिद्ध और साहसी राजपूत शासकों के चित्र आज भी प्रदर्शित हैं। किले के अंदर बने ऐतिहासिक महल, बाग, जलाशय और खूबसूरत मंदिर इसकी खूबसूरती को और भी बढ़ा रहे हैं।

राजस्थान के आमेर किले में प्रवेश करने के लिए पूर्व दिशा में एक प्रवेश द्वार बनाया गया है। आज के समय में पर्यटक पूर्व दिशा में बने इस द्वार से आमेर किले में प्रवेश करते हैं। यह किले का मुख्य द्वार है जिसे सूर्यपाल के नाम से भी जाना जाता है, इस द्वार का नाम सूर्य के उदय होने से पड़ा है। आमेर किले में पूर्व दिशा के अतिरिक्त दक्षिण दिशा में एक बड़ा द्वार भी है, जिसे चन्द्रपाल द्वार कहते हैं। इस गेट के ठीक सामने जलेब चौक स्थित है, जहां से पर्यटक महल के प्रांगण में प्रवेश करते हैं।

Amber Fort Architecture In Hindi

आपको बता दें कि आमेर किले में स्थित जलेबी चौक का इस्तेमाल सेना अपने युद्ध काल को फिर से प्रदर्शित करने के लिए करती थी, जिसे महिलाएं खिड़कियों से देख सकती थीं। जलेब चौक के दोनों ओर सीढ़ियाँ हैं, जिनमें से एक सीढ़ी राजपूत राजाओं की कुलदेवी शिला माता के मंदिर की ओर जाती है।

आपको बता दें कि आमेर किले के जलेब चौक का इस्तेमाल पहले सेना द्वारा अपने युद्ध काल को फिर से प्रदर्शित करने के लिए किया जाता था, जिसे महिलाएं केवल अपनी खिड़की से ही देख सकती थीं। जलेब चौक से दो तरफ सीढ़ियां दिखाई देती हैं, जिनमें से एक तरफ राजपूत राजाओं की कुलदेवी शिला माता मंदिर की ओर जाती है।

इस भव्य किले के गर्भगृह में यह मंदिर स्थापित है, जिसका ऐतिहासिक महत्व होने के साथ-साथ अपना धार्मिक महत्व भी है, जबकि जो भी पर्यटक आमेर किले को देखने आते हैं, उन्हें इस मंदिर के दर्शन अवश्य करने चाहिए। वहीं इस किले के जलेब चौक से दिखाई देने वाली दूसरी ओर की सीढ़ियां सिंहपोल द्वार की ओर जाती हैं।

Amber Fort Architecture In Hindi

वहीं इस गेट के पास एक बहुत ही आकर्षक ढांचा दीवान-ए-आम बनाया गया है, जहां पहले के बादशाह आम जनता के लिए दरबार लगाते थे, जिसमें उनकी फरियादें सुनी जाती थीं। पीले, लाल बलुआ पत्थर और संगमरमर के पत्थरों से बने इस भव्य किले के दक्षिण की ओर गणेश पोल द्वार स्थित है, जो इस किले का सबसे आकर्षक और सुंदर द्वार है। इस गेट में बेहतरीन नक्काशी और बेहतरीन कारीगरी की गई है।

वहीं इस दरवाजे के ऊपर भगवान गणेश की एक छोटी सी मूर्ति सुंदर है इसलिए आमेर किले के इस दरवाजे को गणेश दरवाजा कहा जाता है। राजस्थान के शाही ढंग से डिजाइन किए गए इस सबसे बड़े किले के अंदर जाने पर दीवान-ए-खास, सुख महल, शीश महल समेत कई ऐतिहासिक और बेहद आकर्षक संरचनाएं हैं। किले की इन संरचनाओं में अद्भुत कलाकारी भी देखने को मिलती है।

इसके साथ ही विश्व धरोहरों की सूची में शामिल इस भव्य किले में चारबाग शैली का बना एक खूबसूरत बगीचा भी है, जो अपनी प्राकृतिक छटा बिखेरते हुए इस किले की खूबसूरती को और भी खूबसूरत बना रहा है। राजस्थान की यह सबसे पुरानी राजपुताना विरासत जयगढ़ किले से करीब 2 किलोमीटर लंबे सुरंग मार्ग से भी जुड़ी हुई है।

इस सुरंग का निर्माण आपात स्थिति में बादशाहों के परिवारों को जयगढ़ किले तक पहुँचाने के लिए किया गया था। इस किले के पास से जयगढ़ किले और उसके आसपास का बेहद खूबसूरत नजारा दिखाई देता है। राजस्थान के सबसे महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध किलों में से एक आमेर का किला हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी सुंदरता और भव्यता को देखने के लिए आकर्षित करता है।

amer fort photos

Secret of Amber Fort – आमेर किले का रहस्य

17वीं शताब्दी में प्रसिद्ध राजा मान सिंह द्वारा बनवाया गया Amer Fort अपनी खूबसूरत वास्तुकला और समृद्ध इतिहास के लिए प्रसिद्ध जयपुर का एक गहना है। लेकिन आज भी इस किले की कई घटनाओं और तथ्यों को स्पष्ट नहीं किया जा सका है जो आमेर के किले का रहस्य बना हुआ है।

Secret of Amber Fort

इस महल के बारे में कहां जाता है कि यहां राजा मान सिंह का खजाना छुपा हुआ है, लेकिन इस बात की आज तक पुख्ता पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन स्थानीय लोगों के मुताबिक इस बात का दावा किया जा रहा है. इसके निर्माण की अवधि को लेकर एक और रहस्यमयी तथ्य सामने आता है, इतिहासकारों के अनुसार आमेर के किले को बनाने में 100 साल का समय लगा था, लेकिन यह समय अभी भी स्पष्ट नहीं है कि इस महल को बनाने में कितने साल लगे। है। इनके अलावा भी महल से जुड़ी कई अनसुलझी बातें सामने आई हैं।

Amer Fort Jaipur Tourist Places – आंबेर किला में देखने लायक स्थान 

आमेर का किला घूमने के बाद आप यहां कई खूबसूरत महल देख सकते हैं। यहां देखने के लिए कई अलग-अलग हिस्से हैं, आइए इस आमेर किले में देखने लायक कुछ प्रमुख जगहों के बारे में जानते हैं-

Amer Fort Jaipur Tourist Places

दीवान-ए-आम – Diwan-e-Aam

जयपुर की अरावली पहाड़ी पर स्थित इस विशाल किले के परिसर में बनी ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण संरचनाओं में दीवान-ए-आम बेहद खास है। इसे राजा जयसिंह ने बनवाया था। दीवान-ए-आम आम जनता के लिए बनवाया गया था, इस भव्य हॉल में बादशाहों द्वारा आम जनता की समस्याओं को सुना और सुलझाया जाता था।

इस विशेष ऐतिहासिक संरचना को ग्लास मोज़ेक वर्क के साथ अति सुंदर नक्काशीदार खंभों के साथ बनाया गया है। इस हॉल में 40 बेहद आकर्षक खंभे हैं, जिनमें से कुछ संगमरमर के भी हैं, जबकि खंभे कीमती पत्थरों से जड़े हुए हैं। इस खास ऐतिहासिक इमारत के पत्थरों पर अलग-अलग बेहद खूबसूरत तस्वीरों की मूर्तियां उकेरी गई हैं।

सुख निवास – Sukh Niwas

सुख निवास दीवान-ए-आम के पास स्थित है। इस सुखनिवास को चंदन और हाथी दांत से सजाया गया है। इस सुख निवास के बारे में बताया जाता है कि पौराणिक काल में इसका उपयोग राजा अपनी पत्नियों के साथ समय बिताने के लिए करते थे। इस सुखनिवास के दर्शन करने के बाद आप यहां पौराणिक काल की कई खूबसूरत नक्काशी और आकर्षक कारीगरी देख सकते हैं।

शीश महल – Sheesh Mahal Amer Fort

विश्व विरासत की सूची में शामिल आमेर के इस विशाल किले के अंदर बना शीश महल यहां के मुख्य आकर्षणों में से एक है। यह महल कई खूबसूरत शीशों से बना है। शीश महल को बहुत ही अनोखे तरीके से बनाया गया है, जब शीश महल के अंदर रोशनी की कोई किरण पड़ती है तो पूरा हॉल रोशन हो जाता है। शीश महल की खास बात यह है कि इसे रोशन करने के लिए केवल एक मोमबत्ती की रोशनी ही काफी है।

गणेश पोल द्वार – Ganesh Pol Amer Fort 

आमेर के इस विशाल किले में बनी मुख्य ऐतिहासिक संरचनाओं में से एक गणेश पोल भी है। गणेश पोल किले के अंदर बने दीवान-ए-आम के दक्षिण की ओर स्थित है। गणेश पोल का निर्माण राजा जय सिंह द्वितीय ने 1611 और 1667 ईस्वी के बीच करवाया था।

राजस्थान की शान माने जाने वाले इस विशाल किले के बने 7 बेहद आकर्षक और खूबसूरत दरवाजों में से एक है गणेश पोल। इस भव्य द्वार के बारे में यह भी कहा जाता है कि कोई भी सम्राट जब युद्ध जीतकर आता था तो वह किले के इस मुख्य द्वार से प्रवेश करता था, जहां फूलों की वर्षा से राजाओं का स्वागत किया जाता था। किले के इस आकर्षक द्वार को बहुत ही शानदार तरीके से सजाया गया है, इस द्वार के ऊपरी हिस्से में भगवान गणेश की एक छोटी मूर्ति स्थापित है, जिसके कारण इसे गणेश पोल कहा जाता है।

चांदपोल दरवाजा – Chandpole Darwaza

जयपुर के पास स्थित इस विशाल आमेर किले में बना चांद पोल दरवाजा भी इस किले की प्रमुख ऐतिहासिक संरचनाओं में से एक माना जाता था। चांद पोल दरवाजा पहले आम लोगों के प्रवेश के लिए था। इस विशाल किले के पश्चिम की ओर बने इस भव्य द्वार का नाम चाँद पोल इसी दिशा में उदय होने के कारण पड़ा। इस आकर्षक खंभे की सबसे ऊपरी मंजिल में नौबतखाना बनाया गया था, जिसमें ढोल, नगाड़े और तबला सहित कई संगीत और वाद्य यंत्र बजाए जाते थे।

दिल आराम बाग – Dalaram Bagh

राजस्थान के इस सबसे बड़े किले के अंदर बना दिल आराम बाग इस किले की खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है। इस शानदार गार्डन का निर्माण 18वीं सदी के आसपास हुआ था। इस रमणीय उद्यान में सुन्दर झीलें, फव्वारे बनाए गए हैं। दिल आराम बाग की खूबसूरती देखकर हर कोई मंत्रमुग्ध हो जाता है। इसकी मनमोहक छटा दिल को सुकून देने वाली है, इसलिए इसका नाम दिल आराम बाग रखा गया है।

देवी शिला माता मंदिर – Shila Mata Mandir (Amber Fort)

माता शीला देवी का प्रसिद्ध मंदिर आमेर किले (जयपुर किले) के अंदर स्थित है। शिला माता मंदिर का निर्माण राजा मानसिंह ने करवाया था। इस मंदिर का निर्माण सफेद संगमरमर के पत्थरों से किया गया है। कहा जाता है कि महाराजा मानसिंह माता शीला देवी की मूर्ति बंगला से लाए थे।

लोगों का यह भी मानना है कि यह मूर्ति भी केदार राजा को तब दी गई थी जब उन्होंने अपनी पुत्री का विवाह महाराजा मानसिंह से किया था। आमेर के प्रांगण में स्थित शिला माता मंदिर से आज के समय में हजारों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. दूर-दूर से लोग शिला माता के दर्शन के लिए आते हैं। ऐसी मान्यता है कि शिला माता देवी मंदिर में सच्चे मन से मानी गई सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

Interesting Facts About Amer Fort

Interesting Facts About Amer Fort – आमेर किले के बारे में रोचक तथ्य

  • राजस्थान में आमेर का यह सबसे बड़ा किला राजा मानसिंह ने 16वीं शताब्दी में बनवाया था। इस विशाल किले का नाम अंबा माता के नाम पर रखा गया था।
  • हिंदू और मुगल वास्तुकला से निर्मित इस अनूठी संरचना को इसकी भव्यता और आकर्षण के कारण वर्ष 2013 में UNESCO द्वारा विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया था।
  • भारत के सबसे महत्वपूर्ण किलों में से एक, शीश महल, दीवान-ए-आम, सुख निवास आदि इस आमेर किले के परिसर में बनी महत्वपूर्ण संरचनाओं में से हैं।
  • जयपुर के पास स्थित इस विशाल किले को विशेष रूप से राजपरिवार के निवास के लिए बनवाया गया था। इस किले के परिसर में बनी ऐतिहासिक संरचनाओं में शीश महल सबसे महत्वपूर्ण है। अपनी अद्भुत नक्काशी के लिए मशहूर शीश महल को दुनिया का सबसे अच्छा कांच का घर भी माना जाता है।
  • जयपुर से लगभग 11 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आमेर का किला कई सदियों पहले कछवाहों की राजधानी हुआ करता था, लेकिन जयपुर शहर की स्थापना के बाद नवनिर्मित शहर जयपुर कछवाहों की राजधानी बन गया।
  • आमेर के इस विशाल किले के अंदर 27 कचहरी नाम की एक भव्य इमारत भी बनी हुई है, जो यहां के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक है।
  • आमेर किले के सामने माओटा नाम की एक बहुत ही सुंदर और आकर्षक झील भी है, जो भारत के महत्वपूर्ण किलों में से एक है, जो इस किले की सुंदरता को और बढ़ा रही है।
  • वर्ष 2007 के आँकड़ों के अनुसार उस वर्ष 15 लाख से अधिक पर्यटक आमेर किले की सुंदरता को देखने के लिए यहाँ आये थे।
  • इस विशाल किले के अंदर पर्यटकों के लिए एक आकर्षक बाजार भी है, जहां पर्यटक रंग-बिरंगे पत्थरों और मोतियों से बनी वस्तुओं के अलावा हस्तकला की आकर्षक वस्तुएं भी खरीद सकते हैं।
  • राजस्थान के इस सबसे आकर्षक और महत्वपूर्ण किले में कई बॉलीवुड और हॉलीवुड की सुपरहिट फिल्मों की शूटिंग भी हुई है, जिनमें बॉलीवुड फिल्में Bajirao Mastani, Shuddh Desi Romance, Mughal-e-Azam, Bhool Bhulaiyaa, Jodhaa Akbar आदि शामिल हैं। मैरीगोल्ड होटल, नॉर्थ वेस्ट फ्रंटियर आदि।

Amer Fort Light and Sound Show – आमेर किला लाइट एंड साउंड शो

Amer Fort Light and Sound Show

राजस्थान के सबसे ऐतिहासिक किले आमेर में हर शाम आमेर किले का लाइट एंड साउंड शो भी आयोजित किया जाता है। यह शो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। शो में आमेर किले के खूबसूरत इतिहास और साहसी राजाओं को भी इस लाइट एंड साउंड शो में बताया जाता है। यह शो करीब 50 मिनट तक चलता है।

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने आमेर किला लाइट एंड साउंड शो के लिए अपनी आवाज दी है। इस शो के लिए पर्यटकों को अलग टिकट खरीदना पड़ता है।

  • आमेर किला लाइट एंड साउंड शो शुल्क – 295 रूपये
  • आमेर किला लाइट एंड साउंड अवधि – 52 मिनट
Amer Fort Light and Sound Show

Amber Fort Light And Sound Show Timings In Hindi

  • अक्टूबर से फरवरी -6: 30 बजे (अंग्रेजी) / 7:30 बजे (हिंदी)
  • मार्च से अप्रैल – शाम 7:00 बजे (अंग्रेजी) / 8:00 बजे (हिंदी)
  • मई से सितंबर – शाम 7:30 बजे (अंग्रेजी) / 8:30 बजे (हिंदी)

Opening and Closing Time Of Amber Fort Jaipur In Hindi – आमेर किला का खुलने और बंद होने का समय

Amer Fort timings: राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्थित आमेर किले के खुलने और बंद होने के समय की बात करें तो यह किला पर्यटकों के लिए सुबह 8:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक खुला रहता है। यह अंबर किला सप्ताह के हर दिन खुला रहता है। साल के बदलते मौसम के अनुसार इस किले के खुलने और बंद होने के समय में भी थोड़ा बदलाव देखा जा सकता है।

Amber Fort Jaipur Timings

DayTiming
Monday8:00 am – 5:30 pm
Tuesday8:00 am – 5:30 pm
Wedesday8:00 am – 5:30 pm
Thursday8:00 am – 5:30 pm
Friday8:00 am – 5:30 pm
Saturday8:00 am – 5:30 pm
Sunday8:00 am – 5:30 pm
Amber Fort Jaipur Timings
Amber Fort Jaipur Timings

आमेर किला का प्रवेश शुल्क – Entry Fee of Amber Fort Jaipur In Hindi

Amber Fort Jaipur Entry Fee

  •  25 per person for Indians
  •  10 per person for Indian Students
  •  550 per person for Foreign Tourists
  •  100 per person for Foreign Students
  •  200 per person for Light Show in English
  •  100 per person for Light Show in English
  •  1100 per couple for Elephant Ride

आमेर किले में जल विज्ञान – Hydrology at Amer Fort

Amer Fort Jaipur History In Hindi: ऐसे समय में जब आज हमारे पास कई तकनीकों की कमी के कारण पानी का संग्रह और भंडारण चिंता का एक प्रमुख स्रोत था, आमेर किले के वास्तुकार ने यह सुनिश्चित किया कि गढ़ के निवासियों को ऐसी कोई समस्या न हो।

मावठा एक कृत्रिम झील थी जिसे जलाशय के रूप में कार्य करने के लिए बनाया गया था। विशेष रूप से निर्मित चैनलों के माध्यम से पास की पहाड़ियों से झील में पानी एकत्र किया गया था। झील से पानी उठाने और उसे किले तक पहुँचाने की प्रक्रिया तीन चरणों में की गई:

  • मिट्टी के पाइपों के माध्यम से झील से पानी किले के तल पर स्थित एक बड़े टैंक में जाता था। टैंकों ने पानी को गाद रहित और वातित होने दिया।
  • चरखी का उपयोग करके पानी को ऊपरी टैंकों तक उठाया गया और छोटे टैंकों में भर दिया गया।
  • कई मिट्टी के बरतन बाल्टियों से लगे फारसी पहिये के माध्यम से पानी उठाया जाता था।

जयगढ़ किले में भी इसी तरह की प्रक्रिया का पालन किया गया था। सागर झील से हाथ से पानी ढोया जाता था। झील से किले तक सीढ़ियाँ बनाई गईं और लोग मिट्टी के बर्तनों में पानी भरते थे। मटके एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को दिए जाते थे जो एक उच्च सीढ़ी पर तैनात था।

पानी को एक बड़े टैंक में भरकर चरखी की सहायता से ऊपर उठाया जाता था। फिर पानी को नहरों के एक बिस्तर से गुजरने दिया गया, जिसमें एक ढाल वाली अभी तक लहरदार ढलान थी जिसने रेत को व्यवस्थित करने की अनुमति दी, साथ ही पानी को एक तेज गति देने की अनुमति दी।

Amber Fort Jaipur Entry Fee

Best Time To Visit Amber Fort Jaipur In Hindi – आमेर फोर्ट जाने का सबसे अच्छा समय

सर्दियां अक्टूबर से मार्च तक होती हैं और जयपुर शहर में छुट्टियों का आनंद लेने का यह सबसे अच्छा समय है। इन महीनों में दिन बहुत सुहावने होते हैं लेकिन रातें 4 डिग्री सेल्सियस से भी कम ठंडी होती हैं। अगर आप इन महीनों में यात्रा करते हैं तो अपने साथ ऊनी कपड़े ले जाना न भूलें। यहाँ गर्मी अप्रैल से जून तक होती है और इस दौरान मौसम बहुत गर्म और शुष्क होता है। इस समय जयपुर का तापमान 44°C – 45°C के बीच रहता है और गर्म हवाएँ भी चलती हैं। मानसून यहां जुलाई से सितंबर तक रहता है लेकिन जयपुर में कम से मध्यम बारिश होती है।

How To Reach Amber Fort

How To Reach Amber Fort – आमेर किला कैसे पहुँचे

आमेर का किला जयपुर से 11 किमी उत्तर में स्थित है। जयपुर से किले के लिए हर 30 मिनट में हवा महल से बसें चलती हैं। इसके अलावा आप कैब और टैक्सी की मदद से भी पहुंच सकते हैं। जयपुर देश के सभी हिस्सों से रेलवे, वायुमार्ग और सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

  • अगर आप आमेर का किला घूमने जयपुर जा रहे हैं तो हम आपको बता दें कि जयपुर की यात्रा हवाई मार्ग से करना आपके लिए सबसे अच्छा रहेगा। सांगानेर हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से नियमित रूप से संचालित होने वाली कई एयरलाइनों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। सांगानेर से आमेर किले की दूरी करीब 27 किलोमीटर है, जिसके लिए आप किसी टैक्सी या कैब की मदद ले सकते हैं।
  • राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम (RSRTC) जयपुर और राजस्थान राज्य के प्रमुख शहरों के बीच कई लक्ज़री और डीलक्स बसें चलाता है। नई दिल्ली, अहमदाबाद, उदयपुर, वड़ोदरा, कोटा और मुंबई जैसे शहरों से आपको जयपुर के लिए नियमित बसें मिलेंगी।
  • अगर आप ट्रेन से अंबर फोर्ट जयपुर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि जयपुर रेलवे स्टेशन एक्सप्रेस ट्रेनों की मदद से भारत के अन्य हिस्सों से जुड़ा हुआ है। जयपुर रेलवे स्टेशन से आप कैब या टैक्सी की मदद से आसानी से अपने गंतव्य तक पहुंच सकते हैं।

Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos

Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos
Amer Fort Full HD Images | Amer Fort Wallpaper | Amer Fort Pictures | Amer Fort Photos

Tags:

Amer Fort Jaipur History In Hindi, amer fort full hd images, आमेर का किला रहस्य, Amer Fort History In Hindi, आमेर के किले का रहस्य,आमेर का किला हिस्ट्री इन हिंदी, Amer Fort Jaipur History In Hindi, Amer Fort timings,amer fort timings and fees,Amer Fort history in hindi, आमेर का किला, फोटो आमेर का किला, आमेर का किला फ़ोटो, आमेर किला जयपुर, राजस्थान, Amer Fort Jaipur Rajasthan, आमेर का किला कहां स्थित है, कब हुआ आमेर किले का निर्माण, आमेर के किले का इतिहास, History Of Amer Fort In Hindi, Amer Fort Jaipur History In Hindi

आमेर का किला जयपुर सरचना, Amer Fort Jaipur, Amer Fort Timings, Amer Fort Entry Fee, Amer Fort Entry Fee, Amer Fort Entry Fee, How To Reach Amer Fort From Jaipur, History Of Amer Fort, Amer Fort in Hindi, Amer Kile Ka Itihas, Amer Fort Architecture, Amer Fort Jaipur Tourist Places, Shila Mata Mandir, Shila Mata Mandir amer, Amer Fort Facts, Amer Fort Images, How To Reach Amber Fort In Hindi, Best Time To Visit Amber Fort Jaipur In Hindi, Amer Fort Jaipur History In Hindi

Local Food At Amber Fort In Hindi, Amber Fort Light And Sound Show Timings In Hindi, Amer Fort Light And Sound Show In Hindi, Sheesh Mahal, Secret of Amber Fort, Amber Fort Architecture In Hindi, Amber Fort History In Hindi, Amber Ka Kila History In Hindi, Amer Fort Jaipur History In Hindi, Amer Fort Jaipur History In Hindi



Leave a Comment

चिलचिलाती गर्मी के लिए बेस्ट है जयपुर का यह वाटर पार्क एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाए खीर गंगा, जो है हिमाचल की वादियों में बसी। गर्मी से मिलेगी राहत, सिर्फ दो हजार में घूमे दिल्ली के पास इन जगहों पर मई में बजट में घूमने के लिए डलहौजी से लेकर नैनीताल तक परफेक्ट हैं ये जगहें गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें