गंगेश्वर महादेव मंदिर, समुद्र की लहरें करती है अभिषेक: Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi

Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi:- गंगेश्वर महादेव मंदिर एक हिंदू मंदिर है जो भारत के गुजरात राज्य में दीव शहर से 3 किमी दूर फदुम गांव में स्थित है। इस मंदिर के नाम से ही पता चलता है कि यह मंदिर पूरी तरह से भगवान शिव को समर्पित है।

देश के हर कोने में कई प्रसिद्ध मंदिर हैं। ये मंदिर आस्था के प्रतीक तो हैं ही, साथ ही इनका इतिहास भी सदियों पुराना है। कुछ मंदिर रामायण काल में और कुछ कृष्ण काल में बनाये गये थे। भारत की भूमि सदियों से ऐसे कई प्राचीन मंदिरों की गवाह रही है। आज भी भारत के कोने-कोने में आपको प्राचीन देवी-देवताओं के अद्भुत मंदिर मिल जाएंगे।

इन्हीं प्राचीन मंदिरों में से एक है Shri Gangeshwar Mahadev Mandir और इस मंदिर का ‘शिवलिंग‘। इस मंदिर के परिसर में हर साल लाखों श्रद्धालु इस शिवलिंग के दर्शन और पूजा करने आते हैं। यह शिवलिंग समुद्र तट की चट्टानों पर स्थापित है। जब हर दो सेकंड में समुद्र की लहरें शिवलिंग से टकराती हैं तो इसकी सुंदरता देखने लायक होती है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now
Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi

Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi – श्री गंगेश्वर महादेव मंदिर

Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat History – ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर में स्थापित शिव लिंग महाभारत काल का है और पांडवों द्वारा बनाया गया था। इस मंदिर में पांच शिव लिंग हैं इसलिए यह मंदिर पांच शिव लिंगों के लिए भी जाना जाता है। इस मंदिर का नाम गुजरात के प्राचीन शिव मंदिरों में आता है। इस मंदिर में स्थापित शिव लिंग लगभग 5000 वर्ष पुराना है। इस मंदिर को ‘समुद्र तट मंदिर’ के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि शिव लिंग समुद्र तट पर स्थित है। जब समुद्र में ज्वार आता है तो यह शिव लिंग समुद्र के पानी में डूब जाता है।

गंगेश्वर भगवान शिव के नामों में से एक है, जो गंगा माता को तब प्राप्त हुआ जब उन्होंने इसे अपने बालों में धारण किया। इस मंदिर का वातावरण बहुत ही शुद्ध और पवित्र है, जिससे हर समय समुद्र की लहरों की आवाज सुनी जा सकती है, इसलिए इस मंदिर से एक शक्तिशाली ऊर्जा का संचार होता है। जिसे देखने और महसूस करने के लिए दुनिया भर से श्रद्धालु आते हैं।

इस मंदिर में भगवान गणेश, भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी की मूर्तियाँ भी स्थापित हैं। समुद्र का पानी मंदिर को साफ करता है, समुद्र महोदव के इस मंदिर में लोग भगवान शिव के दर्शन के लिए आते हैं। यह मंदिर अपनी शांति और सुंदरता के कारण भगवान शिव की पूजा के लिए प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक बन गया है।

Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi

History of Gangeshwar Mahadev Temple Gujarat– गंगेश्वर महादेव मंदिर की पौराणिक कथा

पौराणिक कथाओं के अनुसार Gangeshwar Mahadev Temple in Diu का निर्माण तब किया गया था जब पांचों पांडव अज्ञातवास में थे। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि पांचों पांडव प्रतिदिन यहां भगवान शिव की पूजा करने आते थे। गंगेश्वर मंदिर में शिवरात्रि का त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। सावन के महीने में भी यहां लाखों श्रद्धालु भगवान शिव के दर्शन के लिए आते हैं।

पांडव ऐसे स्थान की तलाश में थे, जहां वे भोजन करने से पहले शिव की पूजा कर सकें। उन्होंने यह स्थान ढूंढा और अपने अलग-अलग आकार के आधार पर पांच शिवलिंग स्थापित किए। भीम (पांडव भाइयों में से एक) की विशाल काया को देखते हुए वह सबसे बड़ा था।

चट्टान के ठीक ऊपर एक शेष नाग या सर्प देवता भी बना हुआ है, जिसके बारे में माना जाता है कि वह इन लिंगों पर नजर रखता है। हर रात, उच्च ज्वार के दौरान, ये लिंग और पूरा मंदिर समुद्र की लहरों से धुल जाते हैं।

इस मंदिर में पांच शिव लिंग हैं इसलिए इस मंदिर को ‘पंच शिव लिंग’ के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर को ‘सीशोर टेम्पल’ के नाम से भी जाना जाता है। नाम को लेकर यह भी माना जाता है कि गंगेश्वर भगवान शिव का एक नाम है, जिसे गंगा माता ने अपनी जटाओं से धारण करके प्राप्त किया था, इसलिए इस मंदिर को गंगेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

History of Gangeshwar Mahadev Temple Gujarat
  • स्थान: दीव से 3 किलोमीटर दूर फुदाम गांव, गुजरात भारत
  • निर्मित: महाभारत काल
  • निर्मित: पांडव
  • समर्पित: भगवान शिव
  • महत्व: सबसे पुराने मंदिरों में से एक
  • मंदिर का समय: सुबह 6:00 बजे से रात 8:00 बजे तक
  • घूमने का समय: 1 से 2 घंटे
  • यात्रा का सर्वोत्तम समय: मार्च से जून
  • निकटतम रेलवे स्टेशन: देलवाड़ा रेलवे स्टेशन (11 किमी)
  • निकटतम हवाई अड्डा: दीव हवाई अड्डा (3 किमी)

Nearest Tourist Attraction of Gangeshwar Temple – गंगेश्वर मंदिर का निकटतम पर्यटक आकर्षण

  • Nagoa Beach
  • Jalandhar Beach
  • Sunset Point
  • Splash Water World
  • Nadia Caves
  • Ghogla Beach
  • St.Paul Church
  • Diu Fort
  • Gomptimata Beach
  • Diu Museum
  • Zampa Gateway
  • Panikota Fort
Best Time to Visit of Gangeshwar Mahadev Temple

Best Time to Visit of Gangeshwar Mahadev Temple – गंगेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन का सबसे अच्छा समय

  • October to May

How To Reach Gangeshwar Mahadev Temple – गंगेश्वर महादेव मंदिर तक कैसे पहुंचे?

  • रेल द्वारा: गंगेश्वर महादेव मंदिर से लगभग 13 किलोमीटर की दूरी पर देलवाड़ा रेलवे स्टेशन है।
  • हवाईजहाज से: दीव हवाई अड्डा, गंगेश्वर महादेव मंदिर से लगभग 6 किलोमीटर की दूरी पर है।
  • सड़क द्वारा: गंगेश्वर मंदिर सड़क मार्ग से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है, यही कारण है कि मंदिर तक आसानी से पहुंचने के लिए कोई निजी कार भी ले सकता है या किराए पर टैक्स ले सकता है।

Gangeshwar Mahadev Temple Images

Gangeshwar Mahadev Temple Images
Gangeshwar Mahadev Temple Images

Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi, Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi, Gangeshwar Mahadev Mandir Diu Gujarat In Hindi

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Leave a Comment

वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य अयोध्या राम मंदिर: अद्भुत रोचक तथ्य जो आपको जानना चाहिए राजस्थान का कश्मीर जो है हरियाली से भरपूर खूबसूरत हिल स्टेशन