उत्तराखंड का बेहद खूबसूरत और शांत हिल स्टेशन मुक्तेश्वर घूमने की जानकारी: Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari

Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari:- क्या आप कभी भी परिवार और दोस्तों के साथ मुक्तेश्वर जाने की योजना बना रहे हैं? मुक्तेश्वर उत्तराखंड के नैनीताल जिले में कुमाऊं की पहाड़ियों में स्थित एक खूबसूरत गांव और एक अवश्य देखने योग्य पर्यटन स्थल है। यह स्थान अपनी अविश्वसनीय सुंदरता और मनमोहक दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है। यह शहर अपने राजसी हिमालयी दृश्यों और शांत वातावरण के लिए जाना जाता है। मुक्तेश्वर के हरे-भरे रास्ते और घुमावदार गलियाँ इसे लंबी पैदल यात्रा के साथ-साथ रॉक क्लाइंबिंग और रैपलिंग के लिए एक बेहतरीन जगह बनाती हैं।

Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari

हिमालय की गोद में बसा मुक्तेश्वर आपको एक ऐसा अनुभव दे सकता है जो शायद आपको कहीं और नहीं मिलेगा। यहां न तो शहर का प्रदूषण है, न ज्यादा भीड़-भाड़, न ही ज्यादा शोर-शराबा। यह आरामदायक जगह न सिर्फ अपनी खूबसूरती के लिए बल्कि कई अन्य कारणों से भी मशहूर है। तो आइए आज जानते हैं उत्तराखंड में स्थित इस शहर की विशेषताएं।

Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari – मुक्तेश्वर हिल स्टेशन उत्तराखंड घुमने की जानकारी

मुक्तेश्वर भारत में उत्तराखंड के नैनीताल जिले में एक अद्भुत स्थान है। यह हिल स्टेशन 2171 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। आपको बता दें, यह जगह नैनीताल से 51 किमी, हलद्वानी से 72 किमी और दिल्ली से 343 किमी की ऊंचाई पर स्थित है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

कुमाऊं में स्थित मुक्तेश्वर खूबसूरत वादियों से घिरा हुआ है। मुक्तेश्वर का नाम 350 साल पुराने शिव मंदिर के नाम पर पड़ा है, जिसे मुक्तेश्वर धाम के नाम से जाना जाता है। मुक्तेश्वर अपनी गतिविधियों के लिए भी जाना जाता है, यहां आप रॉक क्लाइम्बिंग और रैपलिंग का भी आनंद ले सकते हैं।

मुक्तेश्वर मंदिर – Mukteshwar Temple Uttarakhand

मुक्तेश्वर मंदिर - Mukteshwar Temple Uttarakhand

यदि आपको धार्मिक यात्रा पसंद है, तो आपको भव्य मुक्तेश्वर मंदिर अवश्य देखना चाहिए। आपको बता दें, यह मुक्तेश्वर के आकर्षक पर्यटन स्थलों में से एक है, ऐसा माना जाता है कि इसका निर्माण पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान किया था। मंदिर तक पहुंचने के लिए आप खूबसूरत नजारों से होकर गुजरेंगे जिसे देखकर आपका दिल खुश हो जाएगा। हालाँकि, यदि आप ट्रैकिंग के लिए तैयार नहीं हैं, तो आप सीढ़ियों से नीचे जाने का विकल्प भी चुन सकते हैं।

नैनीताल जिले में स्थित यह शहर अपने शिव मंदिर के लिए भी प्रसिद्ध है। इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि भगवान शिव ने यहां एक राक्षस का वध किया था। इस राक्षस को यहीं मुक्ति मिली थी इसलिए इस स्थान का नाम मुक्तेश्वर पड़ा।

अगर आप मुक्तेश्वर मंदिर जाने की योजना बना रहे हैं और यहां जाने का सबसे अच्छा समय जानना चाहते हैं, तो हम आपको बता दें कि मंदिर जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से अप्रैल के महीनों के दौरान है। इस दौरान मंदिर में मुक्तेश्वर उत्सव का आयोजन किया जाता है। मंदिर में मनाया गया. यह त्यौहार एकाम्र उत्सव के एक भाग के रूप में मनाया जाता है, जिसे राज्य में रहने वाले हिंदू धर्म के लोग मनाते हैं। मुक्तेश्वर उत्सव चार दिनों तक मनाया जाता है। अगर आप आरामदायक यात्रा का आनंद लेना चाहते हैं तो सर्दी और मानसून के मौसम से बचना बेहतर होगा।

More Info

मुक्तेश्वर मंदिर में सफेद संगमरमर का एक शिव लिंग भी है, जिसमें तांबे का लिंग है। यहां शिवलिंग के अलावा भगवान गणेश, ब्रह्मा, विष्णु, पार्वती, हनुमान और नंदी समेत अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियां स्थापित हैं। यह मंदिर श्री मुक्तेश्वर महाराज जी का घर माना जाता है, जो ध्यान के लिए उपयुक्त स्थान है। तीर्थयात्री मुक्तेश्वर मंदिर तक पहुँचने के लिए पहाड़ी पर चढ़ सकते हैं और अपनी यात्रा को मज़ेदार बना सकते हैं। आपको बता दें कि मंदिर तक का सफर ज्यादा चुनौतीपूर्ण नहीं है और पहाड़ी तक का रास्ता फलों के बगीचों और जंगलों से ढका हुआ है, जिसके कारण मंदिर तक पहुंचने में लगभग 2 घंटे का समय लगता है।

चौली की जाली – Chauli ki Jali

चौली की जाली - Chauli ki Jali

मुक्तेश्वर मंदिर के ठीक पीछे एक और प्रसिद्ध आकर्षण चौली की जाली है। चाहे आप प्रकृति प्रेमी हों या रोमांच प्रेमी, आपको इस जगह से प्यार जरूर हो जाएगा। अब आप सोच रहे होंगे कि इस जगह में इतना प्यारा क्या है, तो हम आपको बता दें, चौली की जाली मुक्तेश्वर में रॉक क्लाइंबिंग और रैपलिंग का अनुभव करने के लिए लोकप्रिय स्थानों में से एक है, जहां से आप हिमालय श्रृंखला के दृश्यों का आनंद ले सकते हैं। यह भी कहा जाता है कि यहां एक देवी और राक्षस के बीच युद्ध हुआ था, इसलिए यह स्थान धार्मिक मूल्यों से भी जुड़ा हुआ है।

सीतला – Sitla

सीतला - Sitla Uttarakhand

सीताला मुक्तेश्वर के पास एक आकर्षक हिल स्टेशन है, जो अपनी सुंदरता में प्राकृतिक और ऐतिहासिक स्थानों का मिश्रण है। यह क्षेत्र कई औपनिवेशिक शैली के बंगलों से सुसज्जित है, जिसके चारों ओर आपको शानदार हिमालय की चोटियाँ दिखाई देंगी। इस विचित्र पहाड़ी शहर की मनमोहक सुंदरता को निहारने के साथ-साथ आप यहां ट्रैकिंग और पक्षियों को देखने का भी आनंद ले सकते हैं।

भालू गढ़ वॉटरफॉल – Bhalu Gaad Waterfalls

भालू गढ़ वॉटरफॉल - Bhalu Gaad Waterfalls Uttarakhand

अगर आप आराम से बैठकर किसी प्राकृतिक जगह को देखना चाहते हैं तो यहां भालू गढ़ वॉटरफॉल जरूर जाएं। यह छिपा हुआ रत्न पर्यटकों की भीड़ से बहुत दूर है, लेकिन लोग इसकी सुंदरता से दंग रह जाते हैं। जो लोग ट्रैकिंग और प्राचीन स्थलों को देखना पसंद करते हैं, उनके लिए मुक्तेश्वर के पास भालू गढ़ झरना एक आदर्श स्थान है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

मुक्तेश्वर घूमने किस मौसम में यहां जाएं? In which season to visit Mukteshwar?

यह शहर पूरे साल बेहद खूबसूरत बना रहता है। गर्मियों में ये घाटियाँ हरियाली से घिरी रहती हैं और सर्दियों में (जनवरी से मार्च तक) ये घाटियाँ बर्फ से ढकी रहती हैं। लेकिन गर्मियों में भी कभी-कभी काफी ठंड हो जाती है। इसलिए, अगर आप गर्मियों की योजना बना रहे हैं, तो भी अपने साथ एक स्वेटर पैक करें।

मुक्तेश्वर कैसे पहुंचे – How to reach Mukteshwar

मुक्तेश्वर मंदिर उत्तराखंड राज्य में नैनीताल में मुक्तेश्वर के बाजार से 1 किमी की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर सड़कों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप मंदिर तक पहुंचने के लिए एक ऑटोरिक्शा किराए पर ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से: दिल्ली से मुक्तेश्वर पहुंचने के लिए, आप या तो टैक्सी किराए पर ले सकते हैं या बस से यात्रा कर सकते हैं।

रेल मार्ग द्वारा: मुक्तेश्वर पहुँचने के लिए दिल्ली से रेलगाड़ियाँ भी उपलब्ध हैं; आप ट्रेन से काठगोदाम जा सकते हैं, जो 72 किमी दूर है और वहां से आप मुक्तेश्वर पहुंचने के लिए बस या टैक्सी ले सकते हैं।

हवाई मार्ग द्वारा: मुक्तेश्वर का निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली है, जो सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Photos And Images

Tags

Places To Visit In Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand, Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Photos And Images, Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari, Tourist Places Near Mukteshwar, Mukteshwar Travel Guide In Hindi, 10 Places to Visit in Mukteshwar, Must-Visit Places In The Picturesque Hill Station Mukteshwar, 24 Charming Hill Stations Near Nainital For Visiting In 2024, Mukteshwar hill stations uttarakhand tour package, Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari,


2 thoughts on “उत्तराखंड का बेहद खूबसूरत और शांत हिल स्टेशन मुक्तेश्वर घूमने की जानकारी: Mukteshwar Hill Stations Uttarakhand Ghumne Ki Jankari”

Leave a Comment

जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य