जयपुर का नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क जहां, लेपर्ड-एलीफैंट-लॉयन के साथ टाइगर सफारी: Nahargarh Biological Park Jaipur Info In Hindi

Nahargarh Biological Park Jaipur Info In Hindi:- नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क या नाहरगढ़ जूलॉजिकल पार्क अरावली पहाड़ियों की सीमा के किनारे स्थित राजस्थान के साहसिक पर्यटन स्थलों में से एक है। नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क हाथी सफारी और इको-टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया था जो हाथी सफारी के लिए लोकप्रिय है।

नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क का निर्माण वर्ष 2013 में शुरू हुआ था और मार्च 2016 को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा पार्क का उद्घाटन किया गया था। और जून 2016 में, राम निवास जयपुर चिड़ियाघर को नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में स्थानांतरित कर दिया गया था। इस पार्क में विभिन्न वनस्पतियों और जानवरों की प्रजातियों को देखा जा सकता है, जो भारतीय पर्यटकों के साथ-साथ विदेशी पर्यटकों के बीच भी लोकप्रिय है और घूमने के लिए एक शानदार जगह है। यह जयपुर की सबसे आकर्षक जगहों में से एक है।

अच्छी साफ-सफाई और देखभाल के मामले में नाहरगढ़ जैविक उद्यान भारत के अन्य जैविक उद्यानों से काफी आगे है। पर्यटकों द्वारा फैलाए जाने वाले कचरे और जानवरों के पिंजरों से आने वाली गंध से बगीचे को हमेशा एक निश्चित समय अंतराल से पहले साफ किया जाता है। अगर आप भी इस गार्डन में घूमने जाते हैं तो इस गार्डन की साफ-सफाई का ध्यान जरूर रखें।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now
Nahargarh Biological Park Jaipur Info In Hindi
Nahargarh Biological Park Jaipur Info In Hindi

यदि आप नाहरगढ़ जैविक उद्यान के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख (Nahargarh Biological Park Jaipur In Hindi) को पूरा अवश्य पढ़ें –

Nahargarh Biological Park Jaipur Info In Hindi – नाहरगढ़ जैविक उद्यान कहाँ स्थित है?

Nahargarh Biological Park Jaipur images

Nahargarh Biological Park राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्थित है जो जयपुर मुख्य शहर से लगभग 19 किमी की दूरी पर एनएच 8 रोड पर स्थित है, जो न केवल राजस्थान, बल्कि देश का एक बहुत प्रसिद्ध जैविक उद्यान है।

History of Nahargarh Biological Park – नाहरगढ़ जैविक उद्यान का इतिहास

Nahargarh Biological Park का यह क्षेत्र पहले जंगल हुआ करता था, जो अरावली पर्वत श्रृंखला के बीच में स्थित था और उस समय इस जंगल में बाघों की संख्या बहुत अधिक थी। समय बीतने के साथ बाघों की संख्या तेजी से घट रही थी। आजादी के बाद बाघों की घटती संख्या को देखते हुए सरकार ने 1980 में इस जंगल को “नाहरगढ़ वन्यजीव अभयारण्य” घोषित कर दिया।

Nahargarh Biological Park

एक समय था जब यह वन्यजीव अभ्यारण्य जानवरों के अभाव के कारण काफी दर्शनीय प्रतीत होता था अर्थात इस वन्य जीव अभ्यारण्य के क्षेत्रफल के अनुसार इसमें पशुओं की संख्या नगण्य हो गई थी। वहीं दूसरी ओर जयपुर चिड़ियाघर में पर्याप्त जगह न मिलने के कारण जानवर मर रहे थे, इसलिए सरकार के निर्देशानुसार 2016 में जयपुर चिड़ियाघर के जानवरों को नाहरगढ़ वन्यजीव अभयारण्य में लाया गया, जिसके बाद यह जैविक उद्यान है। जयपुर के सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों की सूची में गिना जाता है।

इस बायोलॉजिकल पार्क का क्षेत्रफल 720 हेक्टेयर है, जिसमें 26 हेक्टेयर पशु-पक्षियों को पिंजरों में रखा गया है। शेष 694 हेक्टेयर क्षेत्र खाली है, कुछ जानवरों और पक्षियों की कई अलग-अलग प्रजातियों के साथ है।

History of Nahargarh Biological Park

नाहरगढ़ जैविक उद्यान की कुछ महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में – Some important information about Nahargarh Biological Park in Hindi

  • नाहरगढ़ जूलॉजिकल पार्क का निर्माण वर्ष 2013 में शुरू हुआ था और पार्क का उद्घाटन मार्च 2016 में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा किया गया था।
  • नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क का विशेष आकर्षण एशियाई शेर और सफेद पैंथर है, वर्तमान में पार्क में 23 शेर और 12 बाघ हैं।
  • नाहरगढ़ जैविक उद्यान में कुल 220 प्रकार के पक्षी और 450 दुर्लभ प्रजातियाँ शामिल हैं।
nahargarh biological park jaipur timings

Which animals and birds are present in Nahargarh Biological Park? नाहरगढ़ जैविक उद्यान में कौन से जानवर और पक्षी मौजूद हैं?

नाहरगढ़ जैविक उद्यान में भेड़िया (wolf), सियार (jackal), लकड़बग्घा (hyena), सुनहरे बाघ (royal Bengal tiger), सफेद बाघ (white tiger), तेंदुआ (leopard), बब्बर शेर (aslatic lion), बारहसिंघा (reindeer), सांभर, चिंकारा और चीतल हिरण (deer), सूअर (pig), साही (porcupine), लोमड़ी (fox), जंगली बिल्ली (Wild cat), घड़ियाल (alligator), मगरमच्छ (crocodile), भालू (beer), नेवला (weasel), दरियाई घोड़ा (hippopotamus), बंदर (monkey), लंगूर (baboon) और ऐमू (emu) आदि के साथ-साथ बहुत तरह के पक्षियों की प्रजाति भी मौजूद हैं।

नाहरगढ़ जैविक उद्यान के अलावा इस अभयारण्य के जंगलों में बाघ और जेब्रा जैसे जानवरों को लाने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही इस पार्क में हाथी लाने की भी चर्चा चल रही है। कुछ ही दिनों में इन जानवरों को नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में लाने की चर्चा को हकीकत में बदला जा सकता है।

Which animals and birds are present in Nahargarh Biological Park

Nahargarh Biological Park Safari Ride In Hindi

Nahargarh Biological Park Safari Ride

नाहरगढ़ जैविक उद्यान का प्रमुख आकर्षण हाथी सफारी है। नाहरगढ़ हाथी सफारी पर्यटकों के लिए बहुत ही रोमांचक और सुखद तरीके से प्रकृति की सराहना और आनंद लेने का एक अनूठा अनुभव है। जहां पर्यटकों को दो किलोमीटर लंबी नाहरगढ़ हाथी सफारी कराई जाती है, जिसमें बड़ी संख्या में जंगली जानवर और पक्षी देखे जा सकते हैं। हाथी सफारी के दौरान पार्क में रहने वाले पर्यटकों में टाइगर, तेंदुआ, शेर, पैंथर, स्लोथ भालू, कैराकल, हिरण, घड़ियाल, मगरमच्छ, पैंगोलिन, सियार, जंगली कुत्ता, भेड़िया, लकड़बग्घा, कीर ऊदबिलाव, लोमड़ी, रीसस बंदर और लंगूर आदि देख सकते हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now
Nahargarh Biological Park Safari Ride

Nahargarh Biological Park Jaipur Timing – नाहरगढ़ जैविक उद्यान जयपुर का समय

नाहरगढ़ जैविक उद्यान पर्यटकों के भ्रमण के लिए मंगलवार को छोड़कर प्रतिदिन सुबह 08.00 बजे से शाम 5.30 बजे तक खुला रहता है। और बता दे कि नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क की मनोरंजक यात्रा के लिए कम से कम 2 से 3 घंटे का समय निकाल कर घूमे।

Nahargarh Biological Park Jaipur Timing

Nahargarh Biological Park Jaipur Ticket Price / Entry Fee – नाहरगढ़ जैविक उद्यान प्रवेश शुल्क

  • 7 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए नाहरगढ़ जैविक उद्यान में प्रवेश निःशुल्क है।
  • भारतीय छात्रों के लिए: प्रति छात्र 20 रुपये
  • भारतीय पर्यटकों के लिए: 50 प्रति व्यक्ति और जिसमें आपको कैमरे के लिए 200 रुपये और वीडियो कैमरे के लिए 500 रुपये का अलग से टिकट लेना होगा।
  • विदेशी: पर्यटकों के लिए प्रति व्यक्ति 300 रुपये और कैमरा के लिए 400 रुपये और वीडियो कैमरा के लिए 1000 रुपये।
  • दुपहिया वाहन पार्किंग शुल्क: रु. 30 प्रति वाहन
  • चार पहिया वाहन पार्किंग शुल्क: 300 रुपये प्रति वाहन
  • ऑटो रिक्शा पार्किंग : 60 रुपये प्रति वाहन
  • बस पार्किंग शुल्क: रु. 500 प्रति वाहन
Nahargarh Biological Park Jaipur Ticket Price

How to reach Nahargarh Biological Park? नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क कैसे पहुंचे?

नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क जाने के लिए सबसे पहले आपको राजस्थान की राजधानी जयपुर आना होगा। जयपुर पहुंचने के लिए देश के प्रमुख शहरों से फ्लाइट, ट्रेन और बस की सुविधा उपलब्ध है। जयपुर से नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क के लिए टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है। अगर आप अपने परिवार के साथ नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क जा रहे हैं तो जयपुर पहुंचने के बाद आप नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क जाने के लिए प्राइवेट टैक्सी भी बुक कर सकते हैं।

How to reach Nahargarh Biological Park

Best Time To Visit The Nahargarh Biological Park – नाहरगढ़ जैविक उद्यान घूमने का सबसे अच्छा समय

Best Time To Visit The Nahargarh Biological Park

अगर आप जयपुर के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क घूमने का प्लान बना रहे हैं तो हम आपको बता दें कि नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क घूमने के लिए अक्टूबर से मार्च का समय सबसे अच्छा माना जाता है। नाहरगढ़ जैविक उद्यान की यात्रा के लिए सर्दियां आदर्श समय है क्योंकि इस दौरान मौसम बहुत सुहावना होता है। और इस मौसम में आप वन्यजीवों को धूप सेंकते हुए देख सकते हैं।

Nahargarh Biological Park Jaipur Photos


Leave a Comment

जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य