पातालेश्वर महादेव मंदिर जयपुर – इतिहास, समय, प्रवेश शुल्क: Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur:- जयपुर शहर में विभिन्न आकर्षक मंदिर हैं, हालांकि Pataleshwar Mahadev Mandir कुछ असाधारण है, विशेष रूप से महा शिवरात्रि के त्योहार के दौरान, जब तीर्थयात्री अपनी प्रार्थना करने और भगवान शिव से आशीर्वाद लेने के लिए यहां आते हैं। हालांकि इस मंदिर की खोज 1977 में हुई थी, लेकिन माना जाता है कि इसका निर्माण करीब 400 साल पहले हुआ था। चूँकि मंदिर जमीनी स्तर से लगभग 20-22 फीट नीचे स्थित था, इसलिए इसे पातालेश्वर महादेव मंदिर के नाम से जाना जाने लगा।

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur
Contents show

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur – पातालेश्वर महादेव मंदिर जयपुर

शिव जितने रहस्यमय हैं, उतने ही रहस्यमय उनके मंदिर और उन मंदिरों से जुड़ी कहानियां भी हैं। आज तक आपने कई शिव मंदिरों के बारे में पढ़ा और सुना होगा और उनमें से कई लोग इन मंदिरों के दर्शन करने भी गए होंगे। आज हम आपको एक ऐसे शिव मंदिर के बारे में बताते हैं जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं।

यह मंदिर जितना अनोखा है, उतनी ही अनोखी इस मंदिर से जुड़ी कहानी भी है। राजस्थान की राजधानी जयपुर में कई प्राचीन मंदिर और ऐतिहासिक स्थान हैं। इनमें से कुछ बहुत प्रसिद्ध हैं जबकि कुछ समय के साथ भुलाए जाने लगे हैं। ऐसी ही एक जगह झालाना डूंगरी के पास राजपूत कॉलोनी में है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Pataleshwar Mahadev Temple के नाम से प्रसिद्ध यह शिव मंदिर 400 वर्ष से भी अधिक पुराना है। वर्ष 1977 में इस मंदिर की भूमिगत खुदाई की गई थी। खुदाई के दौरान एक अनोखा सच पता चला कि इस मंदिर को जानबूझकर करीब 20-22 फीट की गहराई में बनाया गया था।

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur History – पातालेश्वर महादेव मंदिर जयपुर इतिहास

जयपुर में स्थित Pataleshwar Mahadev Mandir एक पुराना शिव मंदिर है। मंदिर भूमिगत होने के कारण इसे पातालेश्वर कहा जाता है। मंदिर 400 साल पुराना है और 1970 के दशक के दौरान इसकी खुदाई की गई थी। मंदिर पृथ्वी की सतह से 20 मीटर नीचे स्थित था। बाद में पातालेश्वर महादेव मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए सीढ़ी का निर्माण कराया गया। यह भूमिगत छिपा हुआ रत्न 400 साल पहले बनाया गया था और मंदिर के संस्थापक अभी भी अज्ञात हैं। वैसे लोग कहते हैं कि यह पृथ्वी को आशीर्वाद देने के लिए स्वयं ईश्वर की रचना थी।

आज भी यह मंदिर इसके ठीक नीचे स्थित है। मंदिर की सुरक्षा के लिए इसके चारों ओर कुएं जैसा ढांचा बनाया गया है। इस शिव मंदिर के पास एक हनुमान मंदिर भी स्थित है। हर साल शिवरात्रि पर बड़ी संख्या में शिव भक्त यहां आते हैं। जमीन से नीचे होने के कारण इस मंदिर को पातालेश्वर महादेव कहा जाता है।

Lord Mahakaleshwar Ujjain Photos

Pataleshwar Shiv Temple Jaipur Entry Fee – पातालेश्वर शिव मंदिर जयपुर प्रवेश शुल्क

नि: शुल्क (कोई प्रवेश शुल्क नहीं)

Pataleshwar Shiv Temple Jaipur Timings – पातालेश्वर शिव मंदिर जयपुर समय

Jaipur Pataleshwar Mahadev Mandir Darshan Timings सप्ताह के सभी दिन –

  • सुबह का समय – सुबह 5.00 बजे से दोपहर 12.00 बजे तक
  • शाम का समय सायं 4.00 बजे से सायं 6.00 बजे तक
  • मंदिर बंद – 6. 30 बजे
  • नोट: समय विशेष दिनों और त्योहारों पर भिन्न हो सकता है

पातालेश्वर शिव मंदिर जयपुर में फोटोग्राफी और फिल्म की शूटिंग की अनुमति है

Best Time to Visit Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur

अक्टूबर से मार्च

Pataleshwar Shiv Temple Jaipur

How to reach Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur – पातालेश्वर महादेव मंदिर जयपुर कैसे पहुंचे

  • सांगानेर हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है जो मंदिर से 11 किमी दूर है
  • रामगंज मंडी रेलवे स्टेशन निकटतम हवाई अड्डा है जो मंदिर से 2 किमी दूर है
  • जयपुर बस स्टेशन 5 किमी दूर है; जयपुर अन्य प्रमुख शहरों से भी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur Photos

Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur

Latest Post

lord shiva, Pataleshwar Shiva, Strange Temple, अद्भुत शिव मंदिर, पातालेश्वर शिव मंदिर, प्रसिद्द शिव मंदिर, pataleshwar mahadev temple jaipur photos, biggest mahadev temple in india, 11 shiva temples in india, how many temples of lord shiva in india, lord shiva temples outside india, shiva temples across india, Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur Photos, Pataleshwar Mahadev Temple Jaipur images,

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Leave a Comment

जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य
जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य