महाराष्ट्र के समुद्र पर तैरते इस किले का इतिहास और घूमने की पूरी जानकारी: Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi

Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi:- सिंधुदुर्ग किला अरब सागर में बना एक ऐतिहासिक किला है। जिसका निर्माण छत्रपति शिवाजी महाराज ने 1664 में करवाया था। सिंधुदुर्ग किला कोंकण तट पर बनाया गया था। यह भव्य किला 48 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है, जिसकी विशाल दीवारें समुद्र की टकराती लहरों के सामने खड़ी हैं। किले का बाहरी द्वार इस तरह बनाया गया है कि सुई या पक्षी भी यहां प्रवेश नहीं कर सकता। ऊंचे पहाड़ और समुद्री किनारे इस किले की खूबसूरती को दोगुना कर देते हैं। जिसके कारण यहां साल भर पर्यटकों का तांता लगा रहता है। और यहां तक पहुंचने के लिए आपको नाव से जाना होगा।

महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग किले की संरचना बेहद खास है। समुद्र पर तैरते इस किले को बनाने में 73,000 किलोग्राम लोहे का इस्तेमाल हुआ था।

Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi

Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi – सिंधुदुर्ग किला घूमने की पूरी जानकारी

सिंधुदुर्ग किला, भारत के महाराष्ट्र राज्य के सिंधुदुर्ग जिले में स्थित है, जिसका निर्माण छत्रपति शिवाजी महाराज ने करवाया था। इस किले का निर्माण महाराज छत्रपति शिवाजी ने 1664 ई. में करवाया था। इस किले को देखने के लिए नाव की मदद लेनी पड़ती है, क्योंकि यह किला चारों तरफ से समुद्र से घिरा हुआ है। इस किले को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। इस किले के बारे में विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है, जिसे जानने के लिए आपको इस Blog (Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi) को अंत तक पढ़ना होगा।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now
Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi

Sindhudurg Fort History in Hindi – सिंधुदुर्ग किला का इतिहास

महाराष्ट्र राज्य के कोंकण क्षेत्र में स्थित SINDHUDURG FORT MAHARASHTRA के एक बहुत ही पौराणिक किले के रूप में जाना जाता है। यह प्रसिद्ध सिंधुदुर्ग किला सिंधुदुर्ग जिले के मालवन में समुद्र तट से कुछ दूरी पर एक तटबंध पर बना है। जिस जिले में यह किला स्थित है उसका नाम इसी किले के नाम पर रखा गया है।

सिंधुदुर्ग जिले में स्थित इस पौराणिक किले का निर्माण छत्रपति शिवाजी महाराज ने करवाया था। इस किले का निर्माण छत्रपति शिवाजी महाराज ने 1664 के दौरान करवाया था। इस किले को पूरा होने में लगभग 3 साल का समय लगा था। 48 एकड़ के बड़े क्षेत्र में फैला यह किला समुद्र में एक द्वीप पर बना है।

चारों ओर से अरब सागर से घिरा यह किला पौराणिक काल में मराठों का मुख्यालय हुआ करता था। इसके अलावा यह किला मराठों का सुरक्षा भवन भी हुआ करता था। समुद्र की लहरों से लड़ने वाली इस किले की दीवारों को इस तरह से मजबूत बनाया गया है कि आज भी समुद्र की लहरें कुछ भी उखाड़ नहीं सकतीं। इस किले का मुख्य द्वार इस तरह से बनाया गया है कि कोई भी इसके मुख्य द्वार तक जल्दी नहीं पहुंच सकता। वैसे इस किले पर जाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ता है।

Sindhudurg Fort History in Hindi

Sindhudurg Fort Architecture in Hindi – सिंधुदुर्ग फोर्ट की वास्तुकला

समुद्र तट पर होने के कारण इस किले की वास्तुकला भी बहुत महत्वपूर्ण थी। ऐसा कहा जाता है कि उस समय इस किले को बनाने में मुख्य सामग्री गुजरात से लाई गई रेत थी। लगभग 48 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैला यह किला लगभग 3 किलोमीटर लंबा है। हालाँकि, आज कई दीवारें और इमारतें खंडहर में तब्दील हो चुकी हैं, लेकिन दीवार की संरचना इतनी विशाल मानी जाती थी कि कोई भी इसे आसानी से नहीं तोड़ सकता था। ऐसा माना जाता है कि सिंधुदुर्ग किले की दीवारें लगभग 30 फीट ऊंची और 12 फीट मोटी हैं।

Sindhudurg Fort Architecture in Hindi

Sindhudurg Fort Timings in Hindi – सिंधुदुर्ग किला की टाइमिंग

अगर आप अपने दोस्तों या परिवार के साथ सिंधुदुर्ग किले की यात्रा (Visit to Sindhudurg Fort) की योजना बना रहे हैं और अपनी यात्रा पर जाने से पहले समय की तलाश कर रहे हैं, तो हम आपको बता दें कि सिंधुदुर्ग किला सप्ताह के सभी सातों दिन सुबह 8.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक खुला रहता है। है। इस दौरान आप कभी भी यहां आ सकते हैं। एक बात का खास ध्यान रखें, Sindhudurg Fort Trip के लिए कम से कम 2-3 घंटे का समय जरूर निकालें।

Sindhudurg Fort Timings in Hindi

Sindhudurg Fort Entry Fee in Hindi – सिंधुदुर्ग किला की एंट्री फ़ीस

महाराष्ट्र राज्य में स्थित सिंधुदुर्ग किले का प्रवेश शुल्क 5 – 10 रुपये प्रति व्यक्ति निर्धारित किया गया है। इसके अलावा अगर आप इस किले पर जाने के लिए दोपहिया या चार पहिया वाहन अपने साथ ले गए हैं तो इसकी पार्किंग के लिए आपको अलग से चार्ज देना होगा और साथ ही इस किले तक पहुंचने के लिए आपको वोट का सहारा लेना होगा, जिसमें वोट से इस किले तक पहुंचने के लिए व्यक्ति को ₹100 का भुगतान करना पड़ता है।

Sindhudurg Fort Entry Fee in Hindi

Best time to visit Sindhudurg Fort in Hindi – सिंधुदुर्ग किला घूमने जाने का सबसे अच्छा समय 

वैसे तो आप इस जगह पर साल के किसी भी समय जा सकते हैं, लेकिन अक्टूबर और फरवरी के बीच सर्दियों के महीने सिंधुदुर्ग किले और मालवन की यात्रा के लिए सबसे अच्छे महीने हैं। ठंडी रातों और आरामदायक दिनों के साथ, सर्दी इस समुद्रतटीय शहर में एक अविस्मरणीय छुट्टी का वादा करती है। मालवन की यात्रा के लिए जुलाई और सितंबर के बीच का मानसून सबसे कम अनुकूल समय है, क्योंकि बारिश बाहरी गतिविधियों में बाधा डालती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप बरसात और गर्मी का मौसम छोड़कर यहां आएं।

Best time to visit Sindhudurg Fort in Hindi

How To Reach Sindhudurg Fort Malvan in Hindi – सिंधुदुर्ग किला मालवन केसे पहुचें

सड़क मार्ग – सिंधुदुर्ग के लिए मुंबई और महाराष्ट्र से बसें उपलब्ध हैं। वैसे आप गोवा और मैंगलोर से टैक्सी बुक करके भी जा सकते हैं। वैसे महाराष्ट्र राज्य सरकार की बसें मुंबई, सांगली, कोल्हापुर, रत्नागिरी से चलती हैं और गोवा राज्य सरकार की बसें मडगांव, पणजी, वास्को से सिंधुदुर्ग किले तक पहुंचती हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

रेल मार्ग द्वारा – कोंकण रेलवे का सिंधुदुर्ग में एक रेलवे स्टेशन है लेकिन यह हमेशा यहाँ तक उपलब्ध नहीं है। कुडाल, कनकवली और सावंतवाड़ी यहां के अन्य रेलवे स्टेशन हैं।

हवाई मार्ग द्वारा – सिंधुदुर्ग किले तक पहुंचने के लिए गोवा का डाबोलिम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है। जो दिल्ली, अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद और बैंगलोर जैसे सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है।

Sindhudurg Fort Maharashtra Images And Photos

Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi, Sindhudurg Fort Maharashtra In Hindi, Sindhudurg Fort Maharashtra Images And Photos, Sindhudurg Fort History in Hindi, Sindhudurg Fort Timings in Hindi, Sindhudurg Fort Maharashtra Travel Info In Hindi, Sindhudurg Fort Maharashtra In Hindi, Sindhudurg Fort Maharashtra Images And Photos, Sindhudurg Fort History in Hindi, Sindhudurg Fort Timings in Hindi,


Leave a Comment

वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी 300 साल से अधिक समय से पानी में डूबा है जयपुर का ये अनोखा महल राम मंदिर के दर्शन की टाइमिंग में हुआ बदलाव, जानिए नया शेड्यूल अयोध्या में श्री राम मंदिर में राम लला विराजमान, देखे पहली तस्वीरें अयोध्या में श्री राम की मूर्ति का रंग क्यों है काला? जाने इसके पीछे का रहस्य अयोध्या राम मंदिर: अद्भुत रोचक तथ्य जो आपको जानना चाहिए राजस्थान का कश्मीर जो है हरियाली से भरपूर खूबसूरत हिल स्टेशन