अलवर के प्रमुख दर्शनीय स्थल, खर्चा और जाने का समय की सम्पूर्ण जानकारी: Best Tourist Places To Visit In Alwar In Hindi

Best Tourist Places To Visit In Alwar In Hindi:- अलवर राजस्थान के प्रमुख शहरों में से एक है। यहां के दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। अरावली पर्वतमालाओं से घिरा यह खूबसूरत शहर अपने समृद्ध इतिहास की कहानी कहता है। दिलचस्प बात यह है कि इस शहर को 1775 में महाराजा प्रताप सिंह ने मुगल सम्राट के नियंत्रण से मुक्त कराया था।

अलवर के इतिहास पर नजर डालें तो यहां के वीरों की कहानियां रोमांचकारी हैं। अरावली पर्वत पर स्थित अलवर किला वीर योद्धाओं के बलिदान की याद दिलाता है। अलवर में घूमने के लिए कई आकर्षक पर्यटन स्थल हैं। आइए जानते हैं ऐसी जगहों के बारे में, जहां जाकर आपको मजा आएगा।

Best Tourist Places To Visit In Alwar In Hindi – अलवर में घूमने के लिए सर्वोत्तम पर्यटन स्थल

अलवर राजस्थान का एक प्रमुख शहर है और इसके साथ ही यह अपने खास पर्यटन स्थलों के कारण भी यहां आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। अगर आप अलवर शहर घूमने जा रहे हैं तो यहां हम आपको अलवर के प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आपको जरूर देखना चाहिए।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

अलवर का भानगढ़ किला – Bhangarh Fort of Alwar

Bhangarh Fort Alwar Photos

आपने इंटरनेट पर भानगढ़ किले के बारे में जरूर सुना होगा। भानगढ़ भारत की डरावनी जगहों में से एक है। अलवर जिले का यह किला सरिस्का टाइगर रिजर्व की सीमा के पास स्थित है। भानगढ़ किले का निर्माण 17वीं शताब्दी में राजा मानसिंह प्रथम ने करवाया था। अलवर के इस किले में देशी पर्यटकों के अलावा विदेशी पर्यटक भी आते हैं। यह किला अपनी विशेष कलाकृतियों के लिए जाना जाता है। अब इस किले में स्थित संरचना ही बची है।

अलवर का यह किला सुबह 10 बजे खुलता है और शाम 5 बजे के बाद बंद हो जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसके बारे में कई डरावनी कहानियां मशहूर हैं। इसी वजह से आरके लॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने इस किले में रात के समय जाने पर रोक लगा दी है।

लोगों का मानना है कि रात के समय इस महल से अजीब और डरावनी आवाजें आती हैं, जैसे किसी महिला के रोने की आवाज, चूड़ियों की खनक या जानवरों के रोने की आवाज आदि। यहां कई आवाजें सुनाई देती हैं। इतिहास के अनुसार ऋषि बाला ने इस किले को बनते ही नष्ट हो जाने का श्राप दिया था।

सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान अलवर – Sariska National Park Alwar

Sariska National Park Alwar

यह राष्ट्रीय उद्यान अरावली पहाड़ियों में लगभग 800 वर्ग मीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह जगह पर्यटकों को आकर्षित करती है। इस गार्डन में आपको हरी घास, पेड़-पौधे आदि और भी बहुत सी चीजें देखने को मिलेंगी। इस पार्क को 1982 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा मिला।

प्रारंभ में इस स्थान पर बहुत सारे पेड़ थे। सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान में रॉयल बंगाल टाइगर्स की संख्या सबसे अधिक है। सरिस्का नेशनल पार्क में आपको कई तरह के जंगली जानवर देखने को मिलेंगे।

यहां शंभर, चीतल, बारासिंघा, हिरण, लंगूर आदि और कई अन्य जंगली जानवर देखे जा सकते हैं। सरिस्का राष्ट्रीय अभयारण्य पूरे वर्ष खुला रहता है। अगर आप वहां जाना चाहते हैं तो आपको 80 रुपये का टिकट खरीदना होगा। अगर कोई विदेशी पर्यटक इस जगह को देखने जाता है तो उसे 470 रुपये का टिकट खरीदना होगा।

बाला किला – Alwar Fort In Hindi

Alwar Fort alwar

बाला किला या अलवर किला अलवर शहर के ऊपर अरावली पर्वतमाला में स्थित है। यह किला अलवर शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है जिसका निर्माण 15वीं शताब्दी में हसन खान मेवाती ने करवाया था। बाला किला अलवर शहर में 300 मीटर ऊंची चट्टान के ऊपर स्थित है जो शहर का एक शानदार दृश्य प्रदान करता है। अगर आप बाला किला देखने जाएं तो वहां का हर हिस्सा अपना इतिहास बताता है।

सिटी पैलेस अलवर – City Palace Alwar

City Palace Alwar

सिटी पैलेस अलवर में देखने लायक सबसे अच्छी जगहों में से एक है जिसे विनय विलास पैलेस के नाम से भी जाना जाता है। यह महल मुगल और राजस्थानी डिजाइनों के सुंदर मिश्रण के साथ वास्तुकला का चमत्कार है जो आपको शाही जीवन शैली की झलक देता है। सिटी पैलेस की दीवारें, छत की भित्तिचित्र और दर्पण का काम इस महल को बेहद आकर्षक बनाता है और पर्यटकों के लिए अलवर में सबसे आकर्षक स्थानों में से एक बना हुआ है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

नीमराणा की बावड़ी – Neemrana stepwell Alwar

Neemrana stepwell Alwar

नीमराना के अंदर स्थित नीमराना बावड़ी एक बहुत पुरानी और शानदार बहुमंजिला संरचना है। जो नीमराना के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है, और जो पर्यटकों के लिए लोकप्रिय रहता है। यह बावड़ी नीमराना पैलेस के पास स्थित है और इसमें 170 सीढ़ियाँ हैं, जैसे-जैसे हम नीचे जाते हैं, इसका निर्माण छोटा होता जाता है।

नीमराना बावड़ी पुरानी वास्तुकला की सुंदरता को दर्शाती है। जिसमें पुरानी निर्माण कला की उत्कृष्टता देखी जा सकती है। नीमराना की बावड़ी 9 मंजिला इमारत थी और प्रत्येक मंजिल की ऊंचाई लगभग 20 फीट है। यह अंदर से ठंडा और नम है। यह बावड़ी पानी और सिंचाई दोनों के साथ-साथ एक आकर्षक पर्यटन स्थल के रूप में उपयोग की जाती है।

सिलीसेर झील अलवर -Siliserh Lake Alwar

Siliserh Lake Alwar

अगर आपको झीलें देखना पसंद है तो आप अवलार से करीब 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित सिलिसेढ़ झील जा सकते हैं। यह झील तीन तरफ से अरावली पहाड़ियों से घिरी हुई है। झील का बहता पानी मन को आनंदित कर देता है।

हनुमान जी का पांडुपोल मंदिर अलवर – Pandupol Temple of Hanuman Ji Alwar

Pandupol Temple of Hanuman Ji Alwar

हनुमान जी का यह मंदिर 5000 साल से भी ज्यादा पुराना है। हनुमान जी का पांडुपोल मंदिर महाभारत काल से संबंधित है। प्रत्येक मंगलवार एवं शनिवार को यहां भक्तों का जमावड़ा लगता है।

पांडुपोल का हनुमान मंदिर राजस्थान में सरिस्का राष्ट्रीय बाघ अभयारण्य के अंदर स्थित है। जिसमें भगवान हनुमान की वैराग्य अवस्था में एक विशाल मूर्ति स्थापित है। अरावली पर्वतमाला की ऊंची चोटियों के बीच स्थित पांडुपोल का प्राचीन हनुमान मंदिर अलवर में सबसे अधिक देखे जाने वाले स्थानों में से एक है। मंदिर परिसर अपने लंगूरों, मकाक और विभिन्न प्रकार के पक्षियों और अपने भव्य 35 फुट के झरने के लिए भी प्रसिद्ध है।

पांडुपोल को महाभारत काल का माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि पांडवों ने अपने निर्वासन के दौरान अपने जीवन के कुछ वर्ष पांडुपोल में बिताए थे। एक अन्य किंवदंती के अनुसार, यह पांडुपोल वही स्थान था जहां भगवान हनुमान ने भीम को हराया था और उनके घमंड पर अंकुश लगाया था। पांडुपोल हनुमान मंदिर तीर्थयात्रियों के साथ-साथ प्रकृति और पशु प्रेमियों के लिए अलवर में घूमने के लिए अद्भुत स्थानों में से एक है।

भर्तृहरि मंदिर अलवर – Bhartrihari Temple Alwar

Bhartrihari Temple Alwar

भर्तृहरि मंदिर, अलवर शहर से लगभग 30 किमी दूर और प्रसिद्ध सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान के करीब स्थित, अलवर के सबसे प्राचीन पवित्र स्थलों में से एक है, जो आस्था और शांति का एक महत्वपूर्ण केंद्र बिंदु है। मंदिर का नाम भरत (उज्जैन के शासक) के नाम पर रखा गया है। यह मंदिर पारंपरिक राजस्थानी शैली में विस्तृत दीर्घाओं, शिखरों और मंडपों के पुष्प डिजाइन वाले स्तंभों के साथ बनाया गया है जो अलवर में ऐतिहासिक महत्व रखता है।

भर्तृहरि मंदिर तीन तरफ से पहाड़ियों से घिरा होने के कारण भक्तों के बीच अधिक लोकप्रिय है। भर्तृहरि मंदिर झरनों वाली पहाड़ियों पर स्थित, अलवर मन को शांत करने के लिए एक आदर्श स्थान है। जहां राजस्थान के कोने-कोने से मंदिर के अनुयायी आते हैं। इसलिए, यदि आप अपनी दैनिक परेशानियों को भूलकर आस्था और शांति का अनुभव करना चाहते हैं, तो अलवर का भर्तृहरि मंदिर आपके लिए आदर्श स्थान हो सकता है।

नारायणी माता मंदिर अलवर – Narayani Mata Temple Alwar

Narayani Mata Temple Alwar

नारायणी माता मंदिर अलवर का एक बहुत प्रतिष्ठित मंदिर है, जो राजस्थान के मुख्य शहर अलवर से लगभग 80 किमी और अमनबाग से 14 किमी दूर, सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान के किनारे पर स्थित है। जहां नारायणी माता को भगवान शिव की पहली पत्नी सती का अवतार माना जाता है। नारायणी माता मंदिर सफेद संगमरमर से निर्मित है और बहुत अच्छी तरह से सजाया और डिज़ाइन किया गया है।

मंदिर के किनारे पर एक छोटा सा गर्म पानी का झरना इसे और अधिक लोकप्रिय बनाता है। आपको बता दें कि नारायणी माता मंदिर भारत में सैन समाज का एकमात्र मंदिर है जिसकी पवित्रता माउंट आबू, पुष्कर और रामदेवरा के मंदिरों के बराबर मानी जाती है, जो सैन समाज के लिए आस्था का महत्वपूर्ण केंद्र बना हुआ है।

नीलकंठ महादेव मंदिर अलवर – Neelkanth Mahadev Temple Alwar

Neelkanth Mahadev Temple Alwar

अलवर जिले की राजगढ़ तहसील में स्थित नीलकंठ मंदिर, भगवान शिव के निवास स्थान के रूप में प्रसिद्ध है, जो उनके नीलकंठ अवतार को समर्पित है। आपको बता दें कि इस मंदिर का निर्माण महाराजा धीरज मथनदेव ने 6वीं से 9वीं शताब्दी के बीच करवाया था, जिसकी संरचना समय के साथ जीर्ण-शीर्ण हो गई है, जिसमें मंदिर का एक बड़ा हिस्सा अब क्षतिग्रस्त हो गया है जबकि थोड़ा हिस्सा बरकरार है। वह हिस्सा अभी भी बरकरार है. फिर भी यह भगवान शिव के भक्तों के बीच एक अत्यंत महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल बना हुआ है।

पुरजन विहार या कंपनी बाग अलवर – Purjan Vihar or Company Bagh Alwar

Purjan Vihar or Company Bagh Alwar

पुरजन विहार, जिसे कंपनी बाग या कंपनी गार्डन के नाम से जाना जाता है, सिटी पैलेस के निकट स्थित एक सुंदर और सौंदर्यपूर्ण रूप से मनभावन उद्यान है। जिसका निर्माण 1868 में महाराजा शिव दान सिंह ने करवाया था। आपको बता दें कि इस उद्यान का मूल नाम कंपनी गार्डन था जिसे बाद में महाराजा जय सिंह ने बदलकर पुरजन विहार कर दिया।

इस क्षेत्र में शानदार लॉन, अच्छी तरह से सजाए गए बगीचे और समग्र सुरम्य सुंदरता है जो पर्यटकों के लिए एक आकर्षण बनी हुई है। इसके अलावा यहां एक विशाल गुंबद वाला एक छोटा कक्ष भी है जिसे ‘शिमला’ या ‘समर हाउस’ कहा जाता है। जिसका तापमान आसपास के क्षेत्रों और मुख्य शहर की तुलना में हमेशा ठंडा और अधिक सुखद रहता है। जिसके कारण पुरजन विहार अलवर के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक बना हुआ है।

अलवर घूमने का सही समय – Best Time To Visit Alwar

अलवर की यात्रा के लिए अक्टूबर से मार्च का समय सबसे अच्छा है, इस दौरान तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से 11 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है। सर्दी के मौसम में अलवर अपने ठंडे और सुहावने मौसम के कारण स्वर्ग बन जाता है। इसके अलावा, सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान में सफारी के लिए जाने का भी यह अच्छा समय है। यदि सर्दियों के मौसम में यात्रा कर रहे हैं, तो अलवर महोत्सव के आसपास यात्रा की योजना बनाएं, जो एक अनूठा त्यौहार है जो क्षेत्र की कला और संस्कृति को प्रदर्शित करता है।

अलवर कैसे पहुँचे – How To Reach Alwar In Hindi

अलवर शहर का निकटतम हवाई अड्डा दिल्ली हवाई अड्डा (163 किमी) है, इस हवाई अड्डे से आप अलवर के लिए कैब ले सकते हैं। अलवर बस सेवाओं के माध्यम से राज्य के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। इस शहर में ट्रेन कनेक्टिविटी भी काफी अच्छी है। ट्रेन से अलवर जाना एक अच्छा विकल्प है क्योंकि ट्रेन यात्रा के दौरान कई शानदार नज़ारे देखने को मिलते हैं।

अलवर के लिए कोई सीधी उड़ान कनेक्टिविटी नहीं है। अलवर का निकटतम हवाई अड्डा जयपुर में है जो 165 किमी की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डे से अलवर पहुंचने के लिए आप टैक्सी किराये पर ले सकते हैं या इस मार्ग पर चलने वाली नियमित बसों की मदद भी ले सकते हैं।

राज्य के विभिन्न शहरों से अलवर के लिए नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध हैं। इस रूट पर चाहे दिन हो या रात, नियमित बसें उपलब्ध रहती हैं। आप जयपुर, जोधपुर आदि स्थानों से अलवर के लिए शेयर टैक्सी या कैब भी किराए पर ले सकते हैं।

अगर आपने अलवर जाने के लिए रेल मार्ग चुना है तो हम आपको बता दें कि अलवर का अपना रेलवे जंक्शन है जो शहर का मुख्य रेलवे स्टेशन है जिसके लिए भारत और राज्य के कई प्रमुख शहरों से नियमित ट्रेनें चलती हैं। तो आप भारत के प्रमुख शहरों से ट्रेन द्वारा यात्रा करके अलवर पहुंच सकते हैं।

Tags

Alwar Me Ghumne Ki Jagah, Best Tourist Places To Visit In Alwar In Hindi, Alwar Ka Itihas, Tourist Places In Alwar In Hindi, Alwar Ke 10 Pramukh Paryatan Sthal In Hindi, Alwar Mein Ghumne Wali Jagah In Hindi, Most Popular Tourist Places In Alwar In Hindi, Travel places to visit in alwar with friends, Travel places to visit in alwar for couples, Top 10 travel places to visit in alwar, places to visit in alwar in one day, Best travel places to visit in alwar, hidden places to visit in alwar, places to visit in alwar for couples, tourist places near alwar railway station,

Alwar Me Ghumne Ki Jagah, Best Tourist Places To Visit In Alwar In Hindi, Alwar Ka Itihas, Tourist Places In Alwar In Hindi, Alwar Ke 10 Pramukh Paryatan Sthal In Hindi, Alwar Mein Ghumne Wali Jagah In Hindi, Most Popular Tourist Places In Alwar In Hindi, Travel places to visit in alwar with friends, Travel places to visit in alwar for couples, Top 10 travel places to visit in alwar, places to visit in alwar in one day, Best travel places to visit in alwar, hidden places to visit in alwar, places to visit in alwar for couples, tourist places near alwar railway station


Leave a Comment

बेहद सुकून और प्रदूषण मुक्त सीक्रेट हिल स्टेशन जो है नैनीताल के करीब चिलचिलाती गर्मी के लिए बेस्ट है जयपुर का यह वाटर पार्क एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाए खीर गंगा, जो है हिमाचल की वादियों में बसी। गर्मी से मिलेगी राहत, सिर्फ दो हजार में घूमे दिल्ली के पास इन जगहों पर मई में बजट में घूमने के लिए डलहौजी से लेकर नैनीताल तक परफेक्ट हैं ये जगहें गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें