लेह लद्दाख के घूमने लायक सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों की जानकारी: Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi:– लेह लद्दाख एक ऐसी जगह है जहाँ प्रत्येक पर्यटक अपने जीवनकाल में एक बार वहां जाने के लिए इच्छा रखता है। एक ऐसा ड्रीम डेस्टिनेशन जिसके जैसा कोई दूसरा नहीं है। Leh Ladakh के इस पर्यटन स्थल की खूबसूरती को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है।

Leh Ladakh की यात्रा करना एक अद्भुत अनुभव हो सकता है क्योंकि इन जगहों को प्राकृतिक सुंदरता से नवाजा गया है। लेह लद्दाख में लेह में यात्रा करने के लिए आकर्षण का एक बंडल है जो अपार प्राचीन सुंदरता से भरा है। लद्दाख, एक अनूठी विशेषता के साथ जो भारतीय, तिब्बती और बौद्ध धर्म का मिश्रण है, देखने लायक जगह है।

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi
Contents show

Information about Leh Ladakh – लेह लद्दाख के बारे में जानकारी

Leh Ladakh भारत के सबसे खूबसूरत केंद्र शासित प्रदेशों में से एक है। यह Jammu and Kashmir का एक बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है। यह क्षेत्र कराकोम रेंज से सियाचिन ग्लेशियर तक फैला हुआ है। दक्षिण में यह हिमालय तक फैला हुआ है। बहुत से लोगों को भ्रम है कि लेह लद्दाख एक ही है। लेकिन हम यहां आपको बताना चाहते हैं कि लेह लद्दाख एक नहीं है। अगर आप जम्मू-कश्मीर की पूरी भौगोलिक जानकारी जानेंगे तो पाएंगे कि जम्मू-कश्मीर तीन हिस्सों में बंटा हुआ है- जम्मू, कश्मीर और लद्दाख। लद्दाख खुद दो भागों में बंटा हुआ है- लेह जिला और कारगिल जिला।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Leh Ladakh अपने दुर्गम इलाकों, बर्फबारी और कई Mountain Adventure Activities के लिए जाना जाता है। देश भर से पर्यटक यहां की खूबसूरती को करीब से महसूस करने आते हैं। पर्यटकों को यहां की ठंडक में एक तरह की ताजगी आसानी से महसूस होगी। तो चलिए आज के ब्लॉग Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi में दोस्तों हम आपको लेह लद्दाख की बर्फीली वादियों की सैर करवाते हैं जो पूरी दुनिया में बहुत मशहूर हैं।

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi – लेह लद्दाख यात्रा करने के लिए सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थल

Famous Lake of Leh Ladakh – Pangong Lake – लेह लद्दाख की प्रसिद्ध झील – पैंगोंग झील

Famous Lake of Leh Ladakh - Pangong Lake

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi – ब्लू पैंगोंग झील हिमालय में लेह-लद्दाख के पास स्थित एक प्रसिद्ध झील है जो 12 किमी लंबी है और भारत से तिब्बत तक फैली हुई है। झील लगभग 43,000 मीटर की ऊंचाई पर है, जिसके कारण इसका तापमान -5 डिग्री सेल्सियस से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है, यह सर्दियों के मौसम में अपनी लवणता के बावजूद पूरी तरह से जम जाती है। रंग बदलने में माहिर यह झील देश भर में मशहूर है। इस झील का रंग नीला, लाल और कभी-कभी हरा भी होता है।

इस झील को पैंगोंग त्सो के नाम से भी जाना जाता है और लंबे समय तक Major tourist destination of Leh Ladakh रहा है। Beautiful Place In Leh Ladakh होने के साथ ही कई फिल्मों की शूटिंग का हॉट स्पॉट होने की वजह से भी इस झील को काफी लोकप्रियता मिली है। पैंगोंग झील अपनी प्राकृतिक सुंदरता, क्रिस्टल वाटर और कोमल पहाड़ी क्षेत्र के सुंदर परिदृश्य के कारण लेह-लद्दाख का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है।

Khardung La Pass – A Beautiful Place In Leh Ladakh – लेह लद्दाख की खूबसूरत जगह – खारदुंग ला पास

Khardung La Pass - A Beautiful Place In Leh Ladakh

यह स्थान समुद्र तल से 5359 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जिसे दुनिया की सबसे ऊंची सड़क (Highest Road In The World) का दर्जा प्राप्त है। लेकिन यहां जाने के लिए आपको Inner Line Permit की जरूरत होगी। यह जगह लेह से करीब 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां आपको भारतीय सेना के कई वाहन चलते हुए दिखाई देंगे। अगर आप लद्दाख की यात्रा पर जा रहे हैं तो आपको लद्दाख की यात्रा के दौरान इस जगह की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

Khardung La Pass एक प्रवेश द्वार है जो नुब्रा और श्योक घाटियों की ओर जाता है और Best Tourist Places In Ladakh में से एक है। हालांकि यह एक Unique Leh Ladakh Tourist Attractions नहीं हो सकता है, यह निश्चित रूप से लेह लद्दाख में और लेह लद्दाख के आसपास साहसिक उत्साही लोगों के लिए पर्यटन स्थलों (Tourist Destinations For Adventure Enthusiasts) में से एक है। सीमा सड़क संगठन द्वारा प्रबंधित, कारदुंग-ला दर्रा उत्तर का प्रवेश द्वार है और Rides करने के लिए सबसे कठिन लेकिन रोमांचकारी पासों में से एक है।

Rohtang Pass Leh Ladakh In Hindi – रोहतांग पास लेह लद्दाख

Rohtang Pass Permit In Hindi

रोहतांग नाम का यह दर्रा हिमाचल प्रदेश राज्य में 3980 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह दर्रा हिमालय के हिस्से में ही है। यह दर्रा हिमालय की पीर पंजाल श्रेणी के पूर्व में है। मनाली से इसकी दूरी 51 किलोमीटर है। लाहौल, स्पीति और लेह की घाटियाँ इस दर्रे से होकर गुजरती हैं। यानी इसे हम लाहौल, स्पीति और लेह घाटी का प्रवेश द्वार कह सकते हैं। रोहतांग नाम का यह दर्रा भी पूरे कुल्लू क्षेत्र के सबसे शानदार पर्यटन स्थलों में से एक माना जाता है।

इस दर्रे की पहाड़ी ढलानों को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह देखने में बहुत ही आकर्षक और सुंदर लगता है। इस दर्रे की खूबसूरती को देखने के लिए देश के कोने-कोने से हर साल लाखों लोग आते हैं।

इस दर्रे से आगे हमारी भारतीय सेना लाहौल, स्पीति और लेह घाटी की ओर जाने की अनुमति देती है, तभी कोई आगे जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस तरफ काफी बर्फबारी और हिमस्खलन होता है। वे किसी को तभी आगे जाने देते हैं जब वे सड़क से बर्फ को पूरी तरह साफ कर देते हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

यह कुल्लू घाटी और लाहौल और स्पीति घाटी के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता है।

Leh Ladakh’s Main Tourist Destination Magnetic Hill – लेह लद्दाख का प्रमुख पर्यटन स्थल मैग्नेटिक हिल

Leh Ladakh's Main Tourist Destination Magnetic Hill

Magnetic Hill उन जगहों में से एक है जहां पर्यटक अपनी लद्दाख यात्रा के दौरान सबसे ज्यादा जाना पसंद करते हैं। यहां पहुंचने के बाद आप हैरान रह जाएंगे क्योंकि अगर आप अपनी कार को बिना स्टार्ट किए न्यूटन मोड़ पर सड़क पर पार्क कर देंगे तो आपकी कार अपने आप पहाड़ी की ओर चढ़ने लगेगी।

वैसे देखा जाए तो कार नीचे की ओर जाती है, लेकिन ऑप्टिकल विजन की वजह से लोगों को लगता है कि कार ऊपर की तरफ जा रही है। यह स्थान समुद्र तल से लगभग 14000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। मैग्नेटिक हिल का रहस्य (Mystery of Magnetic Hill) दुनिया भर के पर्यटकों को काफी आकर्षित करता है।

Kargil Special Place Of Leh Ladakh – लेह लद्दाख की खास जगह कारगिल

Kargil Leh Ladakh

कारगिल 1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध का केंद्र था जिसके कारण कारगिल पूरे भारत में प्रसिद्ध है। यह जगह कश्मीर घाटी के पास स्थित है। यहां आपको कई प्राकृतिक घाटियां देखने को मिलेंगी। अपने प्राकृतिक सौन्दर्य के कारण यह स्थान यहाँ आने वाले पर्यटकों का मन मोह लेता है। यह जगह प्रकृति प्रेमियों के लिए काफी मशहूर है।

कारगिल की यात्रा के बिना लेह लद्दाख की यात्रा अधूरी है, जो लद्दाख के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह सिंधु नदी के तट पर स्थित लद्दाख का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। यह लेह, पदुम (ज़ांस्कर) और श्रीनगर की ओर जाने वाली सड़कों वाला एक ट्रांजिट हब है। इसके अलावा, यह साहसिक उत्साही लोगों के लिए स्वर्ग है क्योंकि वे ट्रेकिंग और पर्वतारोहण जैसे खेलों का आनंद ले सकते हैं।

जांस्कर घाटी – Zanskar Valley In Hindi

Zanskar Valley In Hindi

ज़ांस्कर घाटी लद्दाख से लगभग 105 किमी पूर्व में कारगिल जिले में स्थित है। ज़ांस्कर घाटी का क्षेत्रफल लगभग 5,000 वर्ग किमी है और यह समुद्र तल से 13,154 की ऊँचाई पर स्थित है। ज़ांस्कर घाटी बर्फ से ढके पहाड़ों और स्वच्छ नदियों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार की वनस्पतियों और जीवों से भरी हुई है।

Zanskar Valley, जिसे स्थानीय रूप से “झार या ज़ंगस्कर” के नाम से जाना जाता है, टेथिस हिमालय का एक हिस्सा है। जो अपने ऊंचे बर्फीले पहाड़ों और आसपास के परिदृश्य के लिए सदा प्रसिद्ध है। और ज्यादातर पर्यटक “ट्रेकिंग” और “रिवर राफ्टिंग” के लिए जांस्कर घाटी जाते हैं। उत्साही यात्रियों के लिए ज़ांस्कर घाटी हिमालयी क्षेत्र की सबसे रोमांचक जगहों में से एक है।

Tso Kar Lake Ladakh In Hindi – त्सो कर झील लद्दाख

Tso Kar Lake भारत के केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के चांगथांग क्षेत्र में स्थित एक खारे पानी की झील है, जिसका नाम लद्दाख की सबसे ऊंची झीलों में भी आता है। त्सो कार झील को दो भागों में बांटा गया है, जो इस प्रकार हैं-

  • त्सो कार झील – यह 1800 हेक्टेयर में फैली खारे पानी की एक बड़ी झील है, जो उत्तर दिशा में फैली हुई है।
  • स्टार्टसापुक त्सो (झील) – यह 438 हेक्टेयर में फैली एक छोटी मीठे पानी की झील है, जो दक्षिण दिशा में स्थित है।

ये दोनों झीलें आपस में जुड़ी हुई हैं और इन दोनों झीलों के आपस में जुड़ने के बाद इस झील को Tso Kar Wetland Complex के नाम से जाना जाता है, जिसे रामसर साइट का दर्जा दिया गया है।

Tso Kar Lake Ladakh

स्टारत्स्पुक झील त्सो कार झील से ऊंचाई पर स्थित है, जिसके कारण स्टारत्स्पुक झील में पानी अधिक होने के कारण स्टारत्स्पुक झील का पानी ऊपर से (अतिप्रवाह से) त्सो कार झील में बहने लगता है, जिससे इन दोनों झीलों का पानी एक हो जाता है। दूसरे में विलीन हो जाता है। ये दोनों झीलें आपस में मिलकर त्सो कार परिसर का निर्माण करती हैं और स्टारत्स्पुक झील का पानी मीठा होते हुए भी खारे पानी त्सो कार झील में मिल जाने पर खारा हो जाता है।

त्सो कार कॉम्प्लेक्स झील के आसपास के स्थानीय लोगों का कहना है कि पहले यह झील बहुत बड़े क्षेत्र में फैली हुई थी, लेकिन वर्तमान समय में यह झील बहुत ही छोटे आकार में सिमट कर रह गई है। जैसा कि मैं आपको ऊपर इस झील के क्षेत्रफल के बारे में पहले ही बता चुका हूँ जिससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि प्राचीन काल में यह झील बहुत बड़े क्षेत्र में फैली रही होगी।

Nubra Valley Ladakh In Hindi – नुब्रा घाटी लद्दाख

Nubra Valley Ladakh In Hindi

लद्दाख को उसकी अलौकिक सुंदरता के कारण भारत का ताज कहा जाता है। लद्दाख के खूबसूरत पहाड़ों के बीच बसी Nubra Valley ऊंची पहाड़ियों से घिरी हुई है। नुब्रा घाटी, जिसमें नुब्रा का अर्थ है ‘फूलों की घाटी’, लद्दाख के उद्यान के रूप में जानी जाती है। गुलाबी और पीले जंगली गुलाबों से सजी यह घाटी आपका ध्यान आकर्षित करने में कोई कसर नहीं छोड़ती है। Nubra Valley लेह से 150 किमी की दूरी पर स्थित है। इस जगह का इतिहास 7वीं शताब्दी ईस्वी पूर्व का है और चीनी और मंगोलियाई लोगों द्वारा आक्रमण किया गया था। नुब्रा वैली एक जादुई और अनछुई जगह है

प्राकृतिक नजारों से सजी इस घाटी की रेत, पहाड़ियां और जमा देने वाली ठंड इसे अनोखा और अद्भुत बनाती है। आश्चर्यजनक नजारों से भरी यह घाटी नुब्रा और श्योक नाम की दो नदियों के बीच स्थित है। एक पर्यटक के तौर पर आपको यहां एक अलग ही संस्कृति का अनुभव होगा। यदि आप इस तरह के एक प्रामाणिक और ऑफ बीट अनुभव की प्रतीक्षा कर रहे हैं, तो नुब्रा आपके लिए जगह है।

Spituk Monastery Leh-Ladakh In Hindi – स्पितुक मठ लेह-लद्दाख

Spituk Monastery Leh-Ladakh In Hindi

इस मठ का निर्माण 11वीं सदी में ल्हा लामा चांगचुब ओड के बड़े भाई ओड-डी ने करवाया था। स्पितुक मठ को शुरू में एक रेड हैट मठवासी संस्था के रूप में स्थापित किया गया था, लेकिन 15 वीं शताब्दी में गेलुग्पा (येलो हैट) के आदेश द्वारा इसे ले लिया गया था।

इस मठ के पीछे हिमालय से गिरने वाला पानी सिंधु नदी में जाता है, जो देखने में बेहद खूबसूरत लगता है। इस मठ में आपको भगवान बुद्ध की कई मूर्तियों के साथ-साथ अमितायस की पवित्र मूर्ति भी मिलेगी। इस मठ में हिंदू धर्म की देवी काली की विशाल मूर्ति भी स्थापित है, जो अपने आप में एक आश्चर्यजनक बात है। यह मठ करीब 100 बौद्ध भिक्षुओं का निवास स्थान भी है। इस मठ में लद्दाख के अलावा भगवान बुद्ध की कुछ मूर्तियां ल्हासा से भी लाई गई थीं, जो वर्तमान में तिब्बत की राजधानी है।

Hemis National Park Tourist Places In Leh Ladakh – लेह लद्दाख में पर्यटन स्थल हेमिस नेशनल पार्क

Hemis National Park Tourist Places In Leh Ladakh

हेमिस नेशनल पार्क, जो लद्दाख के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में गिना जाता है, भारत में हिम तेंदुओं के लिए लोकप्रिय है। हेमिस नेशनल पार्क लद्दाख के पूर्वी क्षेत्र में स्थित है। लद्दाख की खूबसूरत घाटियों में बसा यह दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान भी है, जो 4400 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है।

1981 में स्थापित, यह राष्ट्रीय उद्यान तेंदुए सहित कई लुप्तप्राय जानवरों का घर है। पार्क तेंदुए, एशियाई आइबेक्स, तिब्बती भेड़िया, यूरेशियन भूरे भालू और लाल लोमड़ी का संरक्षित घर है। साथ ही यह पार्क प्रकृति से समृद्ध है जो अक्सर प्रकृति प्रेमियों और वन्यजीव उत्साही लोगों के लिए एक आदर्श स्थान के रूप में लोकप्रिय है।

Shanti Stupa Tourist Places In Leh Ladakh – लेह लद्दाख में शांति स्तूप पर्यटन स्थल

Shanti Stupa Tourist Places In Leh Ladakh

Shanti Stupa लेह लद्दाख का एक प्रमुख धार्मिक स्थल है जो बौद्ध सफेद गुंबद वाला स्तूप है। शांति स्तूप का निर्माण एक जापानी बौद्ध भिक्षु ग्योम्यो नाकामुरा ने करवाया था और खुद 14वें दलाई लामा ने इसे स्थापित किया था। स्तूप अपने आधार पर बुद्ध के अवशेषों को रखता है और आसपास के परिदृश्य का मनोरम दृश्य प्रदान करता है। शांति स्तूप लेह में एक प्रमुख पर्यटन स्थल माना जाता है जो समुद्र तल से 4,267 मीटर की ऊंचाई पर और सड़क मार्ग से 5 किलोमीटर की दूरी पर है। वैकल्पिक रूप से, आप लेह शहर से 500 सीढ़ियाँ चढ़कर स्तूप तक पहुँच सकते हैं।

Hemis Math In Hindi – हेमिस मठ

Hemis Math In Hindi

लेह से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हेमिस मठ लद्दाख का सबसे बड़ा, सबसे महत्वपूर्ण और सबसे लोकप्रिय मठ है। इस मठ का निर्माण 1672 ईस्वी में लद्दाखी राजा सिंगे नामग्याल के शासन में हुआ था। आज यह लद्दाख के सबसे महत्वपूर्ण धार्मिक मठों में से एक है। मठ के चारों ओर लहराते प्रार्थना झंडे, सुंदर वास्तुकला, बुद्ध की छवियां, भित्ति चित्र, बौद्ध ग्रंथ और स्तूप मठ को लेह लद्दाख का प्रतीक बनाते हैं। मठ हर साल जुलाई के महीने के दौरान हेमिस उत्सव का आयोजन करता है जब संगीत, मुखौटा नृत्य और स्थानीय व्यंजन उत्सव में पूरे क्षेत्र को घेर लेते हैं।

Royal Palace Leh Ladakh In Hindi – रॉयल लेह पैलेस

Royal Palace Leh Ladakh In Hindi

लेह लद्दाख में घूमने के लिए सबसे महत्वपूर्ण और आकर्षक जगहों में से एक, लेह पैलेस बीते युग की भव्यता को दर्शाता है। इस भव्य संरचना को 16वीं शताब्दी में राजा सेंगगे नामग्याल द्वारा एक शाही महल के रूप में बनवाया गया था और राजा और उनका परिवार शाही हवेली के पूर्व निवासी थे। लेह पैलेस भी अपने समय की सबसे ऊंची इमारतों में से एक है। कोई भी इस इमारत से लेह के पूरे शहर के साथ-साथ आसपास के मनोरम दृश्यों का आनंद ले सकता है। हालांकि यह महल अब खंडहर हो चुका है, लेह लद्दाख में यह सबसे ज्यादा देखा जाने वाला स्मारक है।

  • जाने का सबसे अच्छा समय: अगस्त के महीने में इस महल की यात्रा करना सबसे अच्छा है
  • प्रवेश शुल्क: भारतीयों के लिए INR 20 और विदेशियों के लिए INR 100
  • समय: सुबह 07:00 बजे से शाम 04:00 बजे तक
  • स्थान: लेह, जम्मू और कश्मीर

Lamayuru Monastery Leh-Ladakh In Hindi – लामायुरू मठ लद्दाख

Lamayuru Monastery Leh-Ladakh In Hindi

लामायुरू मठ लद्दाख का सबसे पुराना मठ होने के साथ-साथ अपनी खूबसूरत वास्तुकला के लिए पूरे लद्दाख में प्रसिद्ध है। लद्दाख का सबसे बड़ा मठ होने के साथ-साथ यह मठ तिब्बती बौद्ध मठ क्षेत्र का सबसे पुराना गोम्पा भी है। लामायुरू मठ को Moonland के नाम से जाना जाता है। इसका कारण यह है कि इस मठ के चारों ओर का चट्टानी क्षेत्र चंद्रमा की तरह दिखाई देता है, जिसके कारण इसे मून लैंड के नाम से जाना जाता है।

Tso Moriri Lake Ladakh In Hindi – त्सो मोरीरी झील लद्दाख

यहां पर्यटकों की भीड़ कम होने से यहां का वातावरण पूरी तरह से शांत रहता है। यहां पर्यटकों की संख्या कम होने का मुख्य कारण यह है कि इस झील की ऊंचाई बहुत अधिक है, जिससे यहां ऑक्सीजन की मात्रा कम होती है और लोगों को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। यही वजह है कि यहां भीड़ कम होती है और माहौल बिल्कुल शांत रहता है।

यह झील भारत के केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में चांगथांग पठार पर रूपशु में स्थित है। इस झील के चारों ओर से पहाड़ों से घिरे होने के कारण इसे ‘पर्वतीय झील’ भी कहा जाता है। इस झील का पानी खारा होने के बावजूद सर्दियों में यह झील पूरी तरह से जम जाती है, जिसके ऊपर से वाहन भी चलने लगते हैं।

Tso Moriri Lake

यह झील भारत की ऊंचाई वाली झीलों में सबसे बड़ी है। इसकी जैव-भूवैज्ञानिक विशेषताओं के कारण, यह झील वर्तमान में एक रामसर स्थल के रूप में संरक्षित क्षेत्र है। इस झील का पानी कहीं भी नहीं निकलता है जिसके कारण इस झील का पानी पूरी तरह से खारा है। इस झील के जलसंभर का मुख्य स्रोत पहाड़ों पर पिघलती बर्फ का पानी है।

त्सो मोरीरी के आसपास एक भी पेट्रोल पंप नहीं है, इसलिए आप वहां जाते समय अपने साथ 1-2 ड्रम पेट्रोल जरूर लेकर जाएं, ताकि बाद में आपको किसी तरह की दिक्कत न हो।

त्सो मोरीरी झील के आसपास के इलाकों में एक भी एटीएम नहीं है, इसलिए जब आप वहां जाएं तो अपने साथ कुछ अतिरिक्त नकदी अवश्य रखें। त्सो मोरीरी झील की ऊंचाई बहुत अधिक है, इसलिए वहां जाते समय आपको ऊंचाई की बीमारी से बचने के लिए सभी प्रकार की दवाएं अपने साथ जरूर रखनी चाहिए, क्योंकि ऑक्सीजन की कमी होती है और ऑक्सीजन की कमी के कारण उल्टी, सिरदर्द, पेट में दर्द और चक्कर आते हैं।

Chadar Trek Ladakh in Hindi – चादर ट्रेक

बता दें कि यह जगह सिर्फ उन्हीं लोगों को पसंद आएगी जो ट्रेकिंग के शौकीन हैं और एडवेंचर के शौकीन हैं। लेकिन इस ट्रैक के आसपास बेहद खूबसूरत नजारा है। चारों तरफ बर्फ से ढके पहाड़ और बीच में जमी हुई नदी। यह नजारा किसी जन्नत से कम नहीं है। यह दुनिया का इकलौता ट्रैक है जहां पूरी ट्रेकिंग नदी पर की जाती है। शायद इसीलिए इस ट्रैक को काफी रिस्की और डेयरिंग माना जाता है। इस ट्रैक पर चलना इतना आसान नहीं है जितना दिखता है।

Chadar Trek Ladakh in Hindi

बर्फ पर चलना आसान नहीं होता, लेकिन इस ट्रैक पर आपको पूरे रास्ते बर्फ पर ही चलना पड़ता है, जो किसी खतरे से खाली नहीं है. जमी हुई बर्फ की चादर के नीचे दिखाई देने वाला साफ पानी दिल में एक रोमांच पैदा करता है, लेकिन साथ ही एक अजीब सा डर भी जगा देता है।

हालांकि आने वाले दिनों में यह ट्रैक बंद हो सकता है। 2018 में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, चादर ट्रैक पर पर्यटकों की बढ़ती संख्या और इससे फैल रहे कचरे और ग्लोबल वार्मिंग से होने वाले खतरे को देखते हुए वहां पर्यटकों के आने पर रोक लगाई जा सकती है. इसके अलावा वहां का तापमान बहुत कम होने के कारण लोग दिन में ट्रेकिंग और रात में कैंपिंग करते हैं, जिससे घाटी का पर्यावरण और शांति बुरी तरह प्रभावित हो रही है. रिपोर्ट्स में कहा गया है कि आने वाले 2-3 सालों में यह ट्रैक बंद हो सकता है।

Phyang Gompa In Hindi – फ्यांग गोम्पा

Phyang Gompa In Hindi

लेह शहर से लगभग 40 किमी पश्चिम में स्थित फयांग गोम्पा बौद्ध धर्म के रेड हैट संप्रदाय से संबंधित है। सफेद और गेरूआ रंग का मठ एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है और ऐसा लगता है कि आसपास के गांव को देख रहा है। जिस स्थान पर आज गोम्पा को अपना आधार मिलता है, वह धर्मराज जम्यांग नामग्याल द्वारा दिए गए चोस्जे दम्मा कुंगा द्वारा उपहार के रूप में प्राप्त विभिन्न मठवासी संपत्तियों का एक छोटा सा हिस्सा था।

फ्यांग हिल्स तासी चोज़ोंग गोम्पा का स्थान था, जिसे 1515 में स्थापित किया गया था। इस मठ को एक मठवासी समुदाय के लिए पेश किया गया था, जिसने स्काईबा जिगस्टेन गोम्बो द्वारा शुरू की गई लद्दाख में दिगांग शिक्षाओं की नींव का मार्ग प्रशस्त किया। दूसरी ओर, यह माना जाता है कि इसे राजा ताशी नामग्याल ने 16वीं शताब्दी की तीसरी तिमाही के दौरान स्थापित किया था।

Shey Palace Ladakh – शे पैलेस लद्दाख

Shey Palace Ladakh

शे गांव प्राचीन काल में लद्दाख की राजधानी रहा है। 1842 ई. में जब जम्मू के डोगराओं ने लद्दाख पर आक्रमण किया, उस समय गांव लद्दाख की राजधानी था, लेकिन वर्तमान में लेह लद्दाख की राजधानी बन गया है। शी महल केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के लेह जिले से 15 किमी दूर है। यह 100 किमी की दूरी पर स्थित है जो कि शे गांव की पहाड़ियों पर स्थित एक बहुत ही सुंदर महल है।

शे महल का निर्माण 1655 में सिंगे नामग्याल के बेटे डेलदान नामग्याल ने करवाया था। इस महल को ल्हाचेन पलजिगोन के नाम से भी जाना जाता है। इस महल का उपयोग लद्दाख के राजा गर्मी के मौसम में रहने के लिए करते थे।

Lachulung La Pass In Hindi – लाचुलुंग ला दर्रे के बारे में

Lachulung La Pass In Hindi

लाचुलुंग ला एक दर्रा है जो समुद्र तल से 5059 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इतनी ऊंचाई के साथ यह बेहद खतरनाक माना जाता है और हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की सीमा पर है। यह ज़ाराप चू और तोज़े की घाटियों को भी अलग करता है।

  • स्थान: लेह-मनाली राजमार्ग को लें, सरचू से 54 किमी और पांग से, 24 किमी
  • जाने का सबसे अच्छा समय: मई से सितंबर

Tiger Hill Leh In Hindi – टाइगर हिल लेह

Tiger Hill Leh In Hindi

कारगिल सेक्टर में स्थित टाइगर हिल लद्दाख में देखने लायक सबसे ऊंची जगहों में से एक है। पहाड़ी 1999 के भारत-पाक युद्ध के लिए अत्यधिक महत्व रखती है। पहाड़ी की चोटी से घाटी, विशाल पर्वत के दृश्य के साथ दृश्य शानदार है और पूरे वर्ष एक शांत जलवायु का प्रतीक है। लद्दाख में कुछ सबसे लोकप्रिय साहसिक खेलों का आनंद लेने के लिए यह जगह एकदम सही है।

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi

River Rafting In Ladakh In Hindi – लद्दाख में राफ्टिंग

River Rafting In Ladakh In Hindi

अगर आप लेह लद्दाख घूमने जा रहे हैं तो यहां की जंस्कार नदी पर राफ्टिंग करना आपको एक खास अनुभव दे सकता है। जांस्कर नदी को भारत की ग्रैंड कैन्यन कहा जाता है। Zanskar River Rafting दुनिया के सबसे अच्छे रिवर क्रूज़ (best river cruises in the world) में से एक है। लेकिन अगर आप राफ्टिंग के लिए जाएं तो अपने साथ पर्याप्त पीने का पानी ले जाना न भूलें। नदी में राफ्टिंग करने के लिए आपके गाइड द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का पालन करें। राफ्टिंग के लिए जून से सितंबर तक के महीने अच्छे हैं।

Mountain Biking In Ladakh In Hindi – लेह लद्दाख माउंटेन बाइकिंग

Mountain Biking In Ladakh In Hindi

लेह-लद्दाख को माउंटेन बाइकर्स के लिए स्वर्ग (Heaven for mountain bikers) माना जाता है। हर साल हजारों पर्यटक यहां खड़ी ढलानों पर बाइक चलाने और एड्रेनालाईन रश का आनंद लेने के लिए आते हैं। लेह-मनाली हाईवे साहसी पहाड़ी बाइकर्स के लिए सुरम्य परिदृश्य का आनंद लेने के लिए एक शानदार सड़क है। लद्दाख में माउंटेन बाइकिंग के लिए सबसे अच्छा समय (Best time for mountain biking in Ladakh) मई से सितंबर तक है क्योंकि यह मई के अंत में बाइकिंग के लिए खुलता है और सितंबर के अंत तक बंद हो जाता है।

Top 10 Tourist Places In ladakh In Hindi

Some Important Tips Before Going To Leh Ladakh – लेह लद्दाख जाने से पहले कुछ जरूरी टिप्स

  • लेह लद्दाख की ऊंचाई अधिक होने के कारण यहां ऑक्सीजन की कमी का अहसास हो सकता है। आवश्यक दवाएं अपने साथ अवश्य रखें
  • चिकित्सा सुविधा के अभाव में यहां प्राथमिक उपचार सामग्री लाना जरूरी है।
  • राफ्टिंग, ट्रेकिंग जैसे किसी भी तरह के एडवेंचर से पहले पूरी जानकारी और अनुभवी गाइड का होना जरूरी है।
  • यहां की सड़कें बेहद खतरनाक हैं। स्वयं ड्राइव करने का प्रयास न करें।
Leh Ladakh Best Places To Visit In Hindi

लेह लद्दाख घूमने का सही समय – Best Time to Visit Leh Ladakh in Hindi

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi- इसमें कोई शक नहीं है कि लद्दाख हिमालय पर्वतमाला में स्थित एक खूबसूरत जगह है। यह भारत में कई पर्यटन स्थलों के विपरीत पूरे वर्ष पर्यटन स्थल नहीं है। हमेशा बर्फ से ढके रहने वाले लद्दाख के ज्यादातर हिस्से कई महीनों तक बाकी दुनिया से कटे रहते हैं, लेकिन फिर भी यहां घूमने का सबसे अच्छा समय मार्च से अगस्त तक का है।

गर्मी का मौसम – Summer Season : लद्दाख में अप्रैल से गर्मी शुरू हो जाती है। तापमान 30 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है और रात के दौरान तापमान 16 – 20 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। इन महीनों में पूरे दिन मौसम खुशनुमा बना रहता है जो घूमने के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है। इस दौरान झीलों में जमी बर्फ भी पिघलने लगती है और आसपास का नजारा खूबसूरत दिखता है। इस दौरान काफी संख्या में पर्यटक यहां घूमने आते हैं।

बारिस का मौसम – Monsoon Season : वर्षा जून में शुरू होती है और सितंबर तक समाप्त होती है। भारी बारिश और पहाड़ी इलाकों के कारण क्षेत्र अवरुद्ध हो जाता है। भूस्खलन के कारण यात्रा करना मुश्किल हो सकता है।

सर्दी का मौसम – Winter Season : लद्दाख में सर्दी का मौसम अक्टूबर से शुरू होकर फरवरी तक रहता है। सर्दियों में लेह लद्दाख का औसत तापमान -19 डिग्री से -11 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। इस दौरान यह क्षेत्र बर्फ से ढका रहता है और अधिकांश दर्रे बर्फबारी के कारण बंद रहते हैं और झीलें भी जाम हो जाती हैं। इस दौरान लेह लद्दाख की यात्रा करना कठिन हो सकता है।

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi

Best Tourist Places To Visit In Leh Ladakh In Hindi

लेह लद्दाख कैसे पहंचे – How to Reach Leh Ladakh in Hindi 

वायु मार्ग – By Air : नजदीकी हवाई अड्डा लेह में स्तिथ है जो शहर से करीब 5 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है। यह हवाई अड्डा दिल्ली, जम्मू, श्रीनगर चंडीगढ़ और भारत के कई प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहाँ पहंच कर आप टैक्सी या फीर कैब के माध्यम से अपने गंतव्य स्थल तक पहंच सकते हैं।

रेल मार्ग –  By Train : लद्दाख में कोई भी रेलवे स्टेशन नहीं है, इसलिए निकटतम रेलवे स्टेशन जम्मू तबी है जो लद्दाख से लगभग 700 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है। यह रेलवे स्टेशन दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और देश के कुछ प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। यहाँ पहंचने के बाद  लद्दाख पहंचने के लिए कैब किराया पर ले सकते हैं या फीर JKSRTC बस के माध्यम से भी पहंच सकते हैं।

सड़क मार्ग – By Road : लेह लद्दाख जाने के लिए दो सड़क मार्ग हैं। एक हिमाचल प्रदेश में मनाली के माध्यम से है जो लगभग 494 किलोमीटर दूर है और दूसरा श्रीनगर से है जो लगभग 434 किलोमीटर दूर है। लद्दाख पहंचने के लिए आप कैब या फीर JKSRTC बस के माध्यम से भी पहंच सकते हैं।

Leh Ladakh Tourist Places Images

Best Place To Visit In Leh Ladakh
Leh Ladakh Tourist Places Images
Leh Ladakh Tourist Places Images
Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi
Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi
Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi

Tags– Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi, Information about Leh Ladakh, Best Tourist Places To Visit In Leh Ladakh In Hindi, Leh Ladakh Best Places To Visit In Hindi, Top 10 Tourist Places In ladakh In Hindi, Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi, Best Place To Visit In Leh Ladakh, Famous Lake of Leh Ladakh, Beautiful Place In Leh Ladakh, Major tourist destination of Leh Ladakh, Khardung La Pass, Rohtang Pass Leh Ladakh In Hindi, Leh Ladakh’s Main Tourist Destination Magnetic Hill,

Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi, Mystery of Magnetic Hill, Kargil Special Place Of Leh Ladakh, Zanskar Valley In Hindi, Tso Kar Lake Ladakh In Hindi, Nubra Valley Ladakh In Hindi, Shanti Stupa Tourist Places In Leh Ladakh, Chadar Trek Ladakh in Hindi, River Rafting In Ladakh In Hindi, Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi, Mountain Biking In Ladakh In Hindi, Some Important Tips Before Going To Leh Ladakh, Best Time to Visit Leh Ladakh in Hindi, How to Reach Leh Ladakh in Hindi, Leh Ladakh Tourist Places Images, Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi, लेह लद्दाख के घूमने लायक सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों की जानकारी, Leh Ladakh Best Tourist Places To Visit In Hindi,


Leave a Comment

चिलचिलाती गर्मी के लिए बेस्ट है जयपुर का यह वाटर पार्क एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाए खीर गंगा, जो है हिमाचल की वादियों में बसी। गर्मी से मिलेगी राहत, सिर्फ दो हजार में घूमे दिल्ली के पास इन जगहों पर मई में बजट में घूमने के लिए डलहौजी से लेकर नैनीताल तक परफेक्ट हैं ये जगहें गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें