उदयपुर में घूमने के लिए सबसे खूबसूरत और प्रसिद्ध जगहें: Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi:- उदयपुर भारत के राजस्थान राज्य में स्थित खूबसूरत अरावली पहाड़ियों से घिरा एक बेहद खूबसूरत शहर है जो अपनी खूबसूरती से आने वाले पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। 1559 ई. में महाराज उदय सिंह ने इस शहर की खोज की और इसे अपनी राजधानी बनाया था।

इस शहर में कई खूबसूरत झीलें और महल हैं, जिसके कारण इसे ‘City of Lakes‘, ‘City of Palaces‘ और ‘पूरब का वेनिस‘ के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप अपने परिवार के साथ कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं तो बेशक उदयपुर आपके लिए बहुत अच्छी जगह होगी जहां आपको झीलों और रेगिस्तान का एक साथ मेल देखने को मिलेगा, जो शायद ही कहीं और देखने को मिले, इसके अलावा आप यहां के खास खाने का लुत्फ भी उठा सकते हैं, जो पूरे भारत में मशहूर है।

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi
Contents show

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi – उदयपुर में घूमने के लिए सबसे प्रसिद्ध स्थान

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi:- उदयपुर को ‘पूर्व का वेनिस’ कहा जाता है जो विशेष रूप से अपनी झीलों और शाही किलों के लिए प्रसिद्ध है। लेकिन इसके अलावा यह शहर राजस्थान के कई अन्य शहरों के आसपास भी स्थित है जो इसे लोगों के लिए Weekend Spot बनाता है। अगर आप इस वीकेंड घूमने की जगहों की तलाश कर रहे हैं, तो क्यों न उदयपुर के पास भी इन खूबसूरत जगहों की सैर करें। आइए आपको बताते हैं उदयपुर के पास की कुछ खूबसूरत जगहों के बारे में –

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

Pichola Lake Udaipur in Hindi – पिछोला झील उदयपुर

Udaipur Most Beautiful And Cheap Tourist Place

पिछोला झील एक मानव निर्मित झील है जिसे एक आदिवासी पिच्छू बंजारा ने बनवाया था। महाराणा उदय सिंह पिछोला झील की सुंदरता पर मोहित थे, इसलिए उन्होंने इस झील के किनारे उदयपुर शहर का निर्माण किया। Pichola Lake Udaipur की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी झीलों में से एक है।

यह झील अपनी सुंदरता और वातावरण से यहां आने वाले यात्रियों को अपनी ओर आकर्षित करती है। बड़े-बड़े पहाड़ों, इमारतों और स्नान घाटों से घिरा यह स्थान शांतिप्रिय लोगों के लिए स्वर्ग के समान है। उदयपुर के इस पर्यटन स्थल पर आप बोटिंग भी कर सकते हैं। शाम के समय यह स्थान सुनहरे रंग में डूबा हुआ दिखाई देता है।

यहां का खूबसूरत नजारा पर्यटकों को एक अलग ही दुनिया में ले जाता है। परिवार और दोस्तों के साथ घूमने के लिए Pichola Lake Udaipur एक बेहतरीन जगह है। अगर आप उदयपुर घूमने जा रहे हैं तो इस झील में नौका विहार का आनंद लेना न भूलें।

अगर आपको बोटिंग का शौक है तो आप पिछोला झील में अपना शौक पूरा कर सकते हैं। पिछोला झील में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक नौका विहार के लिए ₹500 का टिकट दिया गया है, वहीं यदि आप दोपहर 2 बजे के बाद पिछोला झील में नौका विहार करते हैं तो उस समय नौका विहार के लिए आपको ₹800 का टिकट दिया जाएगा। क्योंकि सूर्यास्त के समय पिछोला झील और उसके आसपास के नज़ारे बहुत अच्छे होते हैं, बोटिंग का किराया भी बढ़ जाता है।

Udaipur Me Ghumne Layak Jagah City Palace In Hindi – उदयपुर में घूमने लायक जगह सिटी पैलेस

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi

मेवाड़ की शान कहे जाने वाला “City Palace” पिछोला झील के किनारे स्थित है, जिसके परिसर में ग्यारह और महल हैं, जिनमें दिलखुश महल, भीम बिलास, कृष्णा बिलास, मोती महल, अमर बिलास, शीश महल और जेनन शामिल हैं। सिटी पैलेस का निर्माण 1559 में महाराणा उदय सिंह ने करवाया था। सिटी पैलेस आपको राजपूती रजवाड़ी संस्कृति का अहसास कराता है और इसी के साथ यह अपने इतिहास, पेंटिंग्स, अनोखे फर्नीचर और फोटोग्राफी के लिए मशहूर है। इस महल के अंदर राजस्थानी, मोगलाई, यूरोपीय और चीनी वास्तुकला स्पष्ट रूप से देखी जा सकती है।

इसके अलावा इसे मार्बल और सफेद कांच, चांदी और खूबसूरत पेंटिंग्स से सजाया गया है। शाम को पिछोला झील में इसकी रोशनी का प्रतिबिंब देखना न भूलें। सिटी पैलेस के खुलने का समय सुबह 9:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक है और इसे देखने का सबसे अच्छा समय सर्दियों में है, जहां हर बार प्रवेश शुल्क 300 रुपये और बच्चों के लिए 100 रुपये है।

महल में कमरे, आंगन, मंडप, गलियारे और छतें हैं। इस स्थान पर एक संग्रहालय भी स्थित है जो राजपूत कला और संस्कृति को प्रदर्शित करता है।

Jagdish Temple Udaipur Rajasthan In Hindi – उदयपुर का प्रसिद्ध मंदिर जगदीश मंदिर

Jagdish Temple Udaipur Rajasthan In Hindi

पहले जगन्नाथ राय के मंदिर के रूप में जाना जाने वाला Jagdish Temple Udaipur के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। उदयपुर के सिटी पैलेस परिसर में स्थित यह मंदिर वास्तुकला की इंडो-आर्यन शैली में बना है। 1651 में, जगदीश मंदिर का निर्माण महाराणा जगत सिंह ने करवाया था, जिन्होंने 1628-53 के दौरान उदयपुर पर शासन किया था। मंदिर भगवान विष्णु (लक्ष्मी नारायण) को समर्पित है, जो ब्रह्मांड के संरक्षक हैं। इसे Biggest Temple of Udaipur City माना जाता है। यह सिटी पैलेस का एक प्रमुख हिस्सा है। मंदिर में स्थापित चार हाथ वाली विष्णु प्रतिमा काले पत्थर से बनी है।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

यह एक तीन मंजिला संरचना है जिसमें शानदार नक्काशीदार खंभे, चित्रित दीवारें और सजी हुई छतें हैं। पहली और दूसरी मंजिल पर 50 खंभे हैं। मंदिर के शीर्ष की ऊंचाई 79 फीट है जिस पर हाथियों और सवारों के साथ संगीतकारों और नर्तकियों की मूर्तियां देखी जा सकती हैं।

भगवान विष्णु की गरुड़ (आधा आदमी और आधा चील) की छवि द्वार की रखवाली करती है। जब आप मंदिर के पास पहुंचते हैं, तो प्रवेश द्वार पर पत्थर के दो विशाल हाथी आपका स्वागत करेंगे। मंदिर के सामने की ओर, आपको एक पत्थर की पटिया मिलेगी जिस पर महाराजा जगजीत सिंह का उल्लेख शिलालेख के साथ खुदा हुआ है।

मुख्य मंदिर तक पहुंचने के लिए संगमरमर की 32 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं। यहां आपको गरुड़ की एक पीतल की मूर्ति मिलेगी, जो आधे आदमी और आधे चील की आकृति है। यह विशाल मूर्ति मानो खड़ी है; यह भगवान विष्णु के द्वार की रखवाली कर रहा है। यह मंदिर एक ऊंचे चबूतरे पर बना उदयपुर का सबसे ऊंचा मंदिर (Tallest Temple in Udaipur) है जो लगभग 80 फीट ऊंचा है। मंदिर के अंदर भगवान विष्णु की मूर्ति काले रंग के पत्थर से बनी है और कहा जाता है कि सन 1651 में इस मंदिर को बनाने में लगभग 15 लाख रुपये खर्च किए गए थे।

जगदीश मंदिर अपनी खास नक्काशियों, कई आकर्षक मूर्तियों और शांत वातावरण के लिए पर्यटकों का पसंदीदा है। यह मंदिर सुबह 4 बजे से दोपहर 1 बजे तक और शाम 5 बजे से रात 8 बजे तक खुला रहता है।

Fateh Sagar Lake Udaipur Rajasthan In Hindi – उदयपुर में घूमने वाली जगह फतेह सागर झील

fateh sagar lake udaipur images

Fateh Sagar Lake Udaipur शहर के उत्तर-पश्चिम में स्थित एक बहुत ही आकर्षक झील है जो उदयपुर में सबसे अधिक देखी जाने वाली जगहों में से एक है। यह झील उदयपुर की दूसरी सबसे बड़ी मानव निर्मित झील (Second Largest Man Made Lake) है, जो अपनी सुंदरता से पर्यटकों का मन मोह लेती है।

इस झील के पास का शांत वातावरण यात्रियों को एक अद्भुत शांति प्रदान करता है। Fateh Sagar Lake Udaipur एक वर्ग किलोमीटर में फैली हुई है, जो तीन अलग-अलग द्वीपों में विभाजित है, इसके सबसे बड़े द्वीप को नेहरू पार्क कहा जाता है, जिस पर एक रेस्तरां और बच्चों के लिए एक छोटा चिड़ियाघर भी है, जो एक पिकनिक स्थल के रूप में कार्य करता है।

Fateh Sagar Lake Udaipur को इसके नील रंग के पानी और अरावली पहाड़ियों से घिरे होने के कारण भारत का दूसरा कश्मीर भी माना जाता है। यहां देश का सबसे बड़ा और पहला वर्चुअल फिश एक्वेरियम बनाया गया है, जिसका नाम “अंडर द सन” रखा गया है, यहां आपको मछलियों की डेढ़ सौ प्रजातियां देखने को मिलेंगी।

इसका खुलने का समय सुबह 8 बजे से रात 11 बजे तक है और इसका प्रवेश शुल्क वयस्कों के लिए 118 रुपये और बच्चों के लिए 47 रुपये है, जो मेरे हिसाब से बिल्कुल लायक है, इसलिए आप भी इसका आनंद जरूर लें।

झील के दूसरे द्वीप में वाटर-जेट फव्वारे वाला एक सार्वजनिक पार्क है और तीसरे द्वीप में उदयपुर सौर वेधशाला है। फतेह सागर झील शहर की खास झीलों में से एक होने के कारण यहां पर्यटकों की खासी भीड़ रहती है। लोग इस जगह पर बोटिंग करना पसंद करते हैं। अगर आप उदयपुर घूमने जा रहे हैं तो इस फतेह सागर झील के दर्शन करने जरूर जाएं।

Sajjangarh Palace Udaipur Rajasthan In Hindi – उदयपुर का किला सज्जनगढ़ किला 

Sajjangarh Palace Udaipur Rajasthan In Hindi

सज्जनगढ़ पैलेस को मानसून पैलेस भी कहा जाता है क्योंकि इसे महाराजा सज्जन सिंह ने मानसून के बदलाव को देखने के लिए अरावली की पहाड़ियों पर बनवाया था। यह महल समुद्र तल से लगभग 944 मीटर की ऊंचाई पर संगमरमर से बना एक आलीशान महल है। आप झील को बड़े ही आराम से देख सकते हैं, यहां महल हर दिन सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक पर्यटकों के लिए खुला रहता है और यहां घूमने का सबसे अच्छा समय सूर्यास्त से पहले का है ताकि आप यहां से सूर्यास्त का खूबसूरत नजारा देख सकें। इसका प्रवेश शुल्क भारतीयों के लिए 10 रुपये और विदेशियों के लिए 80 रुपये है।

सज्जनगढ़ पैलेस के साथ-साथ आप सज्जनगढ़ वन्यजीव अभयारण्य या जैविक उद्यान भी जा सकते हैं, यहां आपको विभिन्न प्रकार के जानवर देखने को मिलते हैं, इसके खुलने का समय सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक है और यदि आप चाहें तो यहां प्रवेश शुल्क केवल 30 रुपये है कैमरे अंदर ले जाओ तो 80 रुपए अलग से लगेंगे। यह पार्क मंगलवार को बंद रहता है, इसलिए इस बात का ध्यान रखें।

Udaipur Me Ghumne Ki Jagah Saheliyon Ki Badi – उदयपुर मे घुमने की जगह सहेलियों कि बाड़ी

Udaipur Me Ghumne Ki Jagah Saheliyon Ki Badi

सहेलियों की बाड़ी का निर्माण संग्राम सिंह द्वितीय ने रानी और उनकी सहेलियों को उपहार के रूप में करवाया था। राजा ने खुद इस बगीचे को डिजाइन किया और इसे एक आरामदायक जगह बनाने की कोशिश की जहां रानी अपनी 48 महिला मित्रों के साथ आराम कर सके। यह उद्यान अभी भी कई तरह से अपना उद्देश्य पूरा करता है और लोग शहर की हलचल से बचने के लिए इस स्थान पर आते हैं। उदयपुर में घूमने के लिए यह सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

इस बाड़ी को महाराजा संग्राम सिंह ने अपनी शादी के बाद राजकुमारी के साथ आने वाली पचास दासियों के लिए बनवाया था। यह बाड़ी फतेह सागर झील के पास है, यहाँ एक सफेद संगमरमर का हाथी और एक छोटा संग्रहालय है जिसमें यहाँ के राजा के मूल चित्र और मूर्तियाँ हैं।

इस उद्यान का इतिहास पारंपरिक वास्तुकला और शाही संरचना के साथ दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करता है, इसके अलावा आप यहां मौजूद गुलाब के बगीचे और कमल के तालाब को भी देख सकते हैं। यह गार्डन सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक खुला रहता है और यहां एंट्री चार्ज सिर्फ 10 रुपये है इसलिए अगर आप सस्ते में कोई अच्छी और खूबसूरत जगह देखना चाहते हैं तो आप यहां जा सकते हैं।

Udaipur Me Dekhne Layak Jagha Moti Magri In Hindi – उदयपुर में देखने लायक जगह मोती मगरी

Udaipur Me Dekhne Layak Jagha Moti Magri In Hindi

मोती मगरी फतेह सागर झील के ऊपर एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है, जिसे महाराणा प्रताप और उनके प्रिय घोड़े चेतक की याद में श्रद्धांजलि के रूप में बनाया गया है। यहां की जगह आपको कई आकर्षक नजारे देखने के लिए एक लुकआउट पॉइंट प्रदान करती है। अगर आप महाराणा प्रताप से जुड़ी घटनाओं की अद्भुत विरासत जानना चाहते हैं तो मोती मगरी जरूर जाएं। उदयपुर में मोती मगरी फतेह घूमने लायक जगह है जहां आपको एक बार जरूर जाना चाहिए।

Karni Mata Temple Udaipur Rajasthan In Hindi – करणी माता मंदिर उदयपुर

Karni Mata Temple Udaipur Rajasthan In Hindi

सिटी पैलेस से काफी कम दूरी पर स्थित करणी माता मंदिर का नाम भी काफी प्रसिद्ध है। अरावली पर्वत पर माताजी के इस मंदिर के स्थान के कारण, आपको इस मंदिर में करणी माताजी के दर्शन करने के लिए लगभग 15-20 मिनट की चढ़ाई करनी होगी। आप चाहें तो बिना ट्रेकिंग के भी रोपवे से माताजी के मंदिर पहुंच सकते हैं और उनके दर्शन कर सकते हैं। रोपवे के माध्यम से करणी माता मंदिर जाने पर, अरावली पर्वत के साथ-साथ पूरे उदयपुर शहर का एक शानदार दृश्य दिखाई देता है।

Bagore Ki Haweli Udaipur Rajasthan In Hindi – बागोर की हवेली

Bagore Ki Haweli Udaipur Rajasthan In Hindi

बागोर की हवेली घूमने के लिए ₹90 का टिकट लेना पड़ता है। बागोर की हवेली के अंदर एक संग्रहालय भी है, जिसमें बहुत सारे पुराने हथियार और अन्य चीजें रखी गई हैं। इस म्यूजियम में जाने के लिए आपको ₹50 का अलग से टिकट लेना होगा। बागोर की हवेली में शाम 7 बजे से रात 8 बजे तक राजस्थानी डांस भी होता है, जिसे देखने के लिए काफी भीड़ रहती है। अगर आप इस डांस को देखना चाहते हैं तो आपको 6 बजे से पहले इस हवेली में प्रवेश करना होगा। ऐसा करने से आप आगे की सीट पर बैठ सकते हैं और इस डांस को देखने वालों की भीड़ से बच सकते हैं.

Gulab Bag Best Places To Visit In Udaipur In Hindi – उदयपुर मे घुमने के स्थान गुलाब बाग चिड़ियाघर

गुलाब बाग को महाराजा सज्जन सिंह ने बनवाया था, इसीलिए इस जगह को सज्जन निवास गार्डन के नाम से भी जाना जाता है। यह एक बहुत ही सुंदर उद्यान है जो 100 एकड़ में फैला हुआ है और जैसा कि नाम से ही पता चलता है, यह उदयपुर का सबसे बड़ा उद्यान है। ऐसा लगता है कि यहां गुलाब का बगीचा है, इसलिए यहां गुलाब की असंख्य किस्में हैं।

इसके अलावा गुलाब बाग में देखने के लिए बहुत कुछ है, सरस्वती पुस्तकालय नाम का एक पुस्तकालय भी है, जिसमें कई ऐतिहासिक पुस्तकें हैं, बत्तीस हजार से अधिक पुस्तकें हैं और कहा जाता है कि यह राजस्थान की पहली पुस्तकालय है। गुलाब बाग में नौलखा महल, टॉय ट्रेन, कमल तलाई और एक छोटा चिड़ियाघर भी है जो बहुत बड़ा नहीं है लेकिन छोटे बच्चों के लिए पर्याप्त है।

Best Time To Visit Udaipur In Hindi – उदयपुर घूमने का सबसे अच्छा समय

दोस्तों आप भी जानते हैं कि राजस्थान में बहुत गर्मी पड़ती है इसलिए अगर आप उदयपुर घूमने जाना चाहते हैं तो आपके लिए उदयपुर घूमने का सबसे अच्छा समय सर्दियों का रहेगा क्योंकि इस समय राजस्थान का मौसम बहुत अच्छा होता है। अगर आप राजस्थान की गर्मी से राहत पाने के साथ-साथ उदयपुर घूमने का प्लान बना रहे हैं तो अक्टूबर से फरवरी या मार्च के बीच उदयपुर घूम सकते हैं और लुत्फ उठा सकते हैं।

History Of Udaipur In Hindi – उदयपुर का इतिहास

महाराणा उदय सिंह ने 1559 ईस्वी में उदयपुर शहर की खोज की थी और अपनी पुरानी राजधानी चित्तौड़गढ़ को छोड़कर उदयपुर को नई राजधानी बनाया था। राजधानी बदलने का एक कारण दुश्मनों के लगातार हमले भी थे, इसलिए उसने अपनी राजधानी को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित कर दिया। |

महाराणा उदयसिंह सिसोदिया वंश के उत्तराधिकारी थे। ऐसा माना जाता है कि सिसोदिया वंश दुनिया का सबसे पुराना शासक परिवार है। वर्ष 2009 में एक पत्रिका द्वारा उदयपुर को विश्व के सर्वश्रेष्ठ शहर का दर्जा दिया गया है।

Fateh Sagar Lake History In Hindi

How To Reach Udaipur In Hindi – उदयपुर कैसे पहुंचे

महाराणा प्रताप हवाई अड्डा, जिसे डबोक हवाई अड्डा भी कहा जाता है, उदयपुर शहर से लगभग 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है, यहाँ से मुंबई, दिल्ली और जयपुर के लिए सीधी उड़ानें हैं।

उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन और राणा प्रताप नगर रेलवे स्टेशन उदयपुर के दो मुख्य रेलवे स्टेशन हैं जो भारत के विभिन्न शहरों जैसे मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, पटना, जयपुर और बनारस आदि से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं।

उदयपुर सड़क मार्ग के द्वारा देश के अलग-अलग शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा है दिल्ली से उदयपुर कि सड़क मार्ग से दुरी 673 किलोमीटर है जहाँ से आप टैक्सी या बस दोनों के जरिए भी उदयपुर पहुँच सकते है जयपुर से भी उदयपुर सड़क के रस्ते आ सकते हैं जिसकी दुरी करीब 400 किलोमीटर है.

Places To Visit In Udaipur Images

Bahubali Hill Udaipur photography
Fateh Sagar Lake in Udaipur in Hindi

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi,

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Places To Visit In Udaipur In Hindi, 10 Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi,

Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi, Most Famous Places To Visit In Udaipur In Hindi,


Leave a Comment

गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें माता वैष्णो देवी भवन में हुई ताजा बर्फबारी, भवन ढका बर्फ की चादर से। सिटी पैलेस जयपुर के बारे में 10 रोचक तथ्य जान चकरा जायेगा सिर Askot: उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जो है खूबसूरती से भरपूर Khatu Mela 2024: खाटू श्याम मेला में जाने से पहले कुछ जरूरी जानकारी