रोहतांग पास घूमने का खर्च, जाने का सबसे अच्छा समय और संपूर्ण जानकारी: Rohtang Pass Travel Information In Hindi

Rohtang Pass Travel Information In Hindi:- रोहतांग हिमालय का एक प्रमुख पास है जो बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। उत्तर में मनाली और दक्षिण में कुल्लू से 51 किमी दूर यह स्थान मनाली-लेह मुख्य मार्ग पर पड़ता है। इसे लाहौल और स्पीति जिलों का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। देखा जाए तो यहां साल भर बर्फ की चादर बिछी रहती है।

Rohtang Pass हिमालय पर्वतमाला के पहाड़ों का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। यहां से पहाड़ों के नीचे बादल दिखाई देते हैं। इस नजारे को देखने के लिए न जाने कहां-कहां से लोग यहां आते हैं। रोहतांग पास में स्कीइंग और ट्रैकिंग की भी अपार संभावनाएं हैं। पर्यटक यहां मनमोहक दृश्यों का आनंद लेने और साहसिक खेल खेलने के लिए आते हैं।

अगर आप अपने शहर की गर्मी और लगातार ऑफिस के काम से तंग आ चुके हैं तो गर्मियों में Rohtang Pass की यात्रा आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प होगा, क्योंकि सर्दी का मौसम खत्म होने के बाद जब शिमला और मनाली की बर्फ खत्म हो जाती है। तो उस समय आप Rohtang Pass में बर्फ का आनंद ले सकते हैं, क्योंकि Rohtang Pass में आप गर्मियों में भी आसानी से बर्फ देख सकते हैं। आप चाहें तो गर्मी की छुट्टियां मिलने पर अपने परिवार के साथ रोहतांग पास ट्रिप का प्लान भी बना सकते हैं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

आइए “Rohtang Pass Travel Information In Hindi” के बारे में विस्तार से जानते हैं-

Rohtang Pass Travel Information In Hindi
Contents show

Rohtang Pass Travel Information In Hindi – रोहतांग पास यात्रा की जानकारी

रोहतांग पास पर जाने के खर्च के साथ-साथ रोहतांग पास से जुड़ी विभिन्न बातों की जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको यह Blog अच्छे से पढ़ना चाहिए, क्योंकि Rohtang Pass के इस Blog के माध्यम से मैं आपको Rohtang Pass पर जाने के खर्च के बारे में बताऊंगा, मैं खान-पान, आवास, परिवहन सुविधा, यात्रा योजना और साहसिक गतिविधियों से संबंधित विभिन्न जानकारी दूंगा, ताकि आपको Rohtang Pass की यात्रा के दौरान किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े।

How To Reach Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग पास कैसे जाएं

अगर आप दिल्ली से रोहतांग पास की यात्रा पर जाने की योजना बना रहे हैं, तो सबसे पहले आपको दिल्ली से मनाली जाना होगा, जहां से रोहतांग पास की दूरी केवल 51-52 किमी रह जाती है। आप दिल्ली से बस द्वारा सीधे मनाली जा सकते हैं। अगर आपके पास बाइक या कार है तो आप रोहतांग पास की यात्रा बिना किसी परेशानी के अपनी बाइक या कार से पूरी कर सकते हैं। अगर आपके पास अपनी कार या बाइक नहीं है तो मनाली पहुंचने के बाद आप वहां से बाइक या टैक्सी किराए पर लेकर भी रोहतांग दर्रे की यात्रा पूरी कर सकते हैं।

अगर आप बाइक या कार से रोहतांग पास की यात्रा कर रहे है तो आपको पहले रोहतांग पास परमिट लेना होगा जिसके लिए आपको ऑनलाइन अप्लाई करना पड़ेगा उसके बाद ही आप रोहतांग पास की यात्रा कर पाओगे।

रोहतांग पास तक पहुंचने के लिए आपको मनाली से बस और टैक्सी की सुविधा मिल जाएगी। रोहतांग पास तक पहुंचने के लिए मनाली से हिमाचल प्रदेश पर्यटन की 4 बसें चलाई जाती हैं, जिनका किराया प्रति व्यक्ति 600 रुपये है। यह बस आपको अटल टनल से होते हुए रोहतांग पास तक ले जाती है और वापस मनाली लाती है। मनाली से आपको रोहतांग पास तक पहुंचने के लिए ₹3000-4000 में प्राइवेट टैक्सियां भी मिल जाएंगी। अगर आपका ग्रुप 3-4 लोगों का है तो आप मनाली से टैक्सी बुक करके रोहतांग पास तक जा सकते हैं।

Rohtang Pass Travel Information In Hindi

रोहतांग पास परमिट क्या हैै और क्यों बनाया जाता है (What is Rohtang Pass Permit and why is it made?)

रोहतांग पास परमिट एक ऐसा परमिट है, जो किसी व्यक्ति के लिए नहीं, बल्कि उस वाहन (बाइक, कार, टैक्सी, बस आदि) के लिए बनाया जाता है, जिसके जरिए आप लद्दाख यात्रा पर जा रहे हैं। लद्दाख यात्रा पर आप चाहे कितनी भी गाड़ियां लेकर जाएं, आपको परमिट सिर्फ उतनी ही गाड़ियों का बनवाना होगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उस वाहन में कितने लोग जा रहे हैं, क्योंकि यह परमिट केवल आपके वाहन के लिए बनाया जाता है, किसी व्यक्ति विशेष के लिए नहीं।

Rohtang Pass Travel Information In Hindi

रोहतांग पास परमिट की आवश्यकता कब होती है? (When is Rohtang pass permit required)

यदि आप दिल्ली से जम्मू-श्रीनगर मार्ग पकड़कर लेह जाते हैं, तो आपको इस परमिट की आवश्यकता नहीं होगी, क्योंकि रोहतांग दर्रे के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश और लद्दाख की सीमा को पार करने के लिए आपको इस परमिट की आवश्यकता होती है। दिल्ली से मनाली होते हुए लेह तक के मार्ग में आता है।

यह परमिट दिल्ली-जम्मू-श्रीनगर रूट के लिए नहीं, बल्कि दिल्ली-मनाली रूट के लिए जरूरी है। इसलिए अगर आप दिल्ली से मनाली होते हुए लेह जा रहे हैं, तो ही आपको यह परमिट अपने साथ ले जाना चाहिए, अन्यथा नहीं।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

यह परमिट तीन बार दिखाना पड़ सकता है, पहली बार यह परमिट हिमाचल प्रदेश और लद्दाख की सीमा पर दिखाना होगा। दूसरी बार यह परमिट रोहतांग पास पार करने से पहले गुलाबा चेक-पोस्ट पर दिखाना होगा और तीसरी बार यह परमिट रोहतांग पास पार करने के बाद कोकसर में दिखाना होगा। उसके बाद यह परमिट कहीं भी दिखाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

लद्दाख से वापस आते समय इस परमिट की कोई जरूरत नहीं है. इस परमिट की जरूरत सिर्फ और सिर्फ दिल्ली से मनाली होते हुए लेह जाने पर होती है। अगर आप किसी भी रूट से वापस आते हैं तो आपको वापस आते वक्त इस परमिट की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Rohtang Pass Travel Information In Hindi

रोहतांग पास परमिट कब और कैसे बनवाया जा सकता है?

एक दिन में टोटल 1200 व्हीकल्स का रोहतांग पास परमिट बनाया जाता है, जिसमें 800 पेट्रोल व्हीकल और 400 डीजल व्हीकल होती हैं। रोहतांग पास परमिट की वेबसाइट रोजाना सुबह 10:00 बजे और शाम 04:00 बजे खुलती है। सुबह 400 पेट्रोल गाड़ियों और 200 डीजल गाड़ियों के परमिट बनते हैं और शाम को इतनी ही गाड़ियों के परमिट बनते हैं और उसके बाद ये वेबसाइट बंद हो जाती है. रोहतांग पास परमिट के लिए आपको बाइक के लिए सिर्फ ₹50 और कार वगैरह के लिए ₹550 पे करना होगा। ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करे।

इस परमिट को बनाने का पहला तरीका तो यह है कि आप इस परमिट को नीचे दिए गए लिंक से ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

Link

Rohtang Pass Travel Information In Hindi

When Does Rohtang Pass Open In Hindi – रोहतांग पास कब खुलता है 

सर्दियों के मौसम में रोहतांग पास पूरी तरह से बर्फ से ढक जाता है, जिसके कारण सर्दियों में रोहतांग पास तक पहुँचना असंभव हो जाता है। अप्रैल में सर्दी का मौसम ख़त्म होते ही रोहतांग पास के रास्ते पर्यटकों के लिए खोल दिए जाते हैं। रोहतांग पास के रास्ते जरूर 15-20 अप्रैल के आसपास खुल जाते हैं, फिर भी अप्रैल में रोहतांग पास पर जाने से पहले आपको वहां के रास्तों के खुलने और उसकी स्थिति के बारे में जरूर जान लेना चाहिए।

रोहतांग पास के आसपास सितंबर के अंत से अक्टूबर के मध्य तक बर्फबारी शुरू हो जाती है और रोहतांग पास में पहली बर्फबारी होते ही सभी पर्यटकों को वापस लौटने की अनुमति दे दी जाती है और फिर रोहतांग पास का रास्ता अप्रैल के मध्य तक बंद कर दिया जाता है।

Things To Do In Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग दर्रा आने पर क्या करें

  • यहां आने वाले पर्यटक Skiing, Paragliding, Snow Scooter riding, River Rafting और माउंटेन बाइकिंग जैसी विभिन्न रोमांचक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।
  • प्रकृति प्रेमी ग्लेशियरों, चोटियों और लाहौल घाटी से बहने वाली चंद्रा नदी के सुंदर दृश्यों का आनंद ले सकते हैं।
  • यहां राहला नाम का झरना है, जो रोहतांग दर्रे के रास्ते में पड़ता है। यह झरना 2,500 मीटर की ऊंचाई से गिरता है और देखने में बेहद अद्भुत लगता है। आप इसे देख सकते हैं।
  • रोहतांग से आप गयापान की जुड़वां चोटियों का अद्भुत नजारा देख सकते हैं।
Best Time To Visit Rohtang Pass In Hindi

Best Time To Visit Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग पास जाने का सबसे अच्छा समय

अप्रैल, मई और जून के महीने Rohtang Pass के लिए पीक सीजन हैं। इस दौरान जब हर तरफ गर्मी होती है तो Rohtang Pass के आसपास बर्फ के ढेर दिखाई देते हैं, जिसके कारण इस दौरान पर्यटकों की भीड़ भी बहुत अधिक होती है। अगर आप इस दौरान Rohtang Pass की यात्रा पर जाते हैं तो आपको परिवहन के साथ-साथ भोजन और आवास पर भी काफी पैसे खर्च करने पड़ेंगे।

कभी-कभी इस दौरान इतना ट्रैफिक जाम हो जाता है कि आपको Rohtang Pass तक पहुंचने के लिए 5-6 घंटे तक इंतजार करना पड़ता है। अगर आप बाइक से Rohtang Pass जाते हैं तो ट्रैफिक जाम होने पर भी आपको इंतजार नहीं करना पड़ेगा। यह मंगलवार को पर्यटकों के लिए बंद रहता है। रोहतांग दर्रा सुबह 6 बजे खुलता है और शाम 5 बजे बंद हो जाता है।

Places To Visit Near Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग पास के आसपास घूमने की जगह

  • Manali’s Adventure hub aka Solang Valley
  • Rahala Waterfall
  • Bhaga and Chandra rivers
  • Spiti and Lahaul Valley
  • Khoksar village 

Interesting Facts About Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग पास के बारे में रोचक तथ्य 

Interesting Facts About Rohtang Pass In Hindi

रोहतांग पास का नाम रोहतांग पास कैसे पड़ा, इससे जुड़े कई मिथक और किंवदंतियाँ हैं। कुछ लोग कहते हैं कि पास का नाम शक्तिशाली पर्वत श्रृंखलाओं के नाम पर रखा गया है जो कुल्लू और लाहौल घाटियों के बीच एक कड़ी के रूप में काम करती हैं। और चूँकि यह घाटियों के बीच संबंध का एकमात्र पॉइंट है, कुछ लोग कहते हैं कि देवताओं ने स्वयं दर्रा बनाया है। कुल्लू के लोगों का मानना है कि भगवान शिव ने दर्रा बनाया था और लाहौल में लोग पश्चिमी तिब्बत के राजा ग्यापो ग्यासर को मानते हैं जिन्होंने दर्रा बनाया था।

हालाँकि, सबसे आम और विश्वसनीय मूल कहानी नाम में ही निहित है। लद्दाखी भाषा में रोहतांग का अर्थ भोटी होता है जिसका अनुवाद “लाशों का ढेर” होता है। ऐसा माना जाता है कि एक समय में रोहतांग पास को पार करते समय सीबीआरई के कई कर्मचारी दबकर मर गए थे, इसलिए रोहतांग पास को लाशों का मैदान भी कहा जाता है।

  • शाहिद और करीना कपूर की फिल्म जब वी मेट के लोकप्रिय गाने ‘ये इश्क हाये’ का पहला भाग रोहतांग पास पर शूट किया गया था।
  • Rohtang Pass पर बड़े पैमाने पर घातक भूस्खलन होता है और चालक दल को बर्फ की परतों को साफ करने के लिए लंबे समय तक संघर्ष करना पड़ता है।
  • यह दर्रा पीर पंजाल के दोनों ओर के लोगों के बीच एक प्राचीन व्यापार मार्ग है। ज़ोजिला दर्रा की तरह, रोहतांग भी लद्दाख के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है।
  • मनाली में Rohtang Pass की यात्रा के दौरान रानी का नाला सबसे खतरनाक है, जो यहां एक बड़ी बाधा बनी हुई है।
  • पिछले कुछ वर्षों से यह क्षेत्र फिसलन भरा हो गया है। गर्मी के मौसम में बर्फ पिघलते ही रानी नाला में आग लग जाती है।
  • पिघलती बर्फ मोटर चालकों के लिए 2 किमी की दूरी में बदल जाती है। पूरा इलाका कीचड़ से भर जाता है।
Rohtang Pass Trip Cost From Manali In Hindi

Rohtang Pass Trip Cost From Manali In Hindi – रोहतांग पास घूमने का खर्चा 

अगर आप मनाली से रोहतांग पास तक हिमाचल प्रदेश टूरिज्म की बस से जाते हैं तो आपकी बस का किराया मात्र ₹600 होगा, लेकिन अगर आप 3-4 लोग हैं और ₹3000-4000 की प्राइवेट टैक्सी बुक करके रोहतांग पास तक जाते हैं, तो आपका ट्रांसपोर्ट का खर्च ₹1000 आएगा इसलिए मैंने ट्रांसपोर्ट का खर्च ₹1000 लिखा है। आप अपने बजट और सुविधा के आधार पर बस या टैक्सी से रोहतांग दर्रे तक जा सकते हैं।

₹600 (खाने-पीने का खर्च)+₹1000 (होटल का किराया)+₹1000 (ट्रांसपोर्ट का खर्चा)+₹400 (एडवेंचर एक्टिविटीज) = ₹3000

दोस्तों अगर आप मनाली से रोहतांग पास घूमने के लिए जाते हैं तो रोहतांग पास घूमने का खर्च लगभग ₹3000 आएगा। अगर आप मनाली घूमने जा रहे हैं तो तभी रोहतांग पास घूमने जाएं अन्यथा अगर आप किसी अन्य राज्य से जुड़े हैं हिमाचल प्रदेश की तुलना में, रोहतांग दर्रे की यात्रा की लागत बहुत अधिक होगी।

Tips For Visiting Rohtang Pass In Hindi – रोहतांग पास में घूमने के लिए टिप्स

रोहतांग के लिए सुबह जल्दी निकलें, क्योंकि सैकड़ों स्थानीय टैक्सियाँ पर्यटकों को ले जाती हैं, जिससे दर्रे की संकरी गलियों में ट्रैफिक जाम हो जाता है और कभी-कभी यात्रियों को मुख्य पॉइंट तक पैदल चलना पड़ता है।

रोहतांग पास की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय जून से अक्टूबर तक है। यहां पहुंचने के लिए, मनाली-रोहतांग मार्ग से शीतकालीन कोट और जूते किराए पर लें क्योंकि यहां बहुत अधिक बर्फ है जिससे आपके लिए घूमना मुश्किल हो जाएगा।

जैसे-जैसे यहां पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है, प्रदूषण की समस्या भी बढ़ती जा रही है क्योंकि क्षेत्र में वाहनों की बढ़ती आवाजाही के कारण बहुत अधिक धुआं फैल रहा है। भारी बर्फबारी के दौरान यह क्षेत्र जनता के लिए बंद रहता है, लेकिन पर्यटन सीजन के दौरान यहां इतनी भीड़ हो जाती है कि रोजाना हजारों किलो कचरा फेंक दिया जाता है, जिससे पता चलता है कि यह खूबसूरत जगह कितनी समस्याग्रस्त होती जा रही है। नवंबर से अप्रैल तक का समय ऐसा होता है कि रोहतांग दर्रा खराब मौसम के कारण बंद कर दिया जाता है।

Rohtang Pass Images

Rohtang Pass Images
Rohtang Pass Images

Tags – Rohtang Pass Travel Information In Hindi, All Information About Rohtang Pass Tour In Hindi, Rohtang Pass In Hindi, Interesting Facts About Rohtang Pass In Hindi, Best Time To Visit Rohtang Pass In Hindi, Places To Visit Near Rohtang Pass In Hindi, Tips For Visiting Rohtang Pass In Hindi, How To Reach Rohtang Pass In Hindi, Rohtang Pass Trip Cost In Hindi, Rohtang Pass Kahan Hai,

Rohtang Pass Travel Information In Hindi, Rohtang Pass Trip Cost From Manali In Hindi, How Much Will It Cost To Visit Rohtang Pass In Hindi, Rohtang Pass Trip From Delhi In Hindi, Rohtang Pass Permit, Rohtang Pass Travel Information In Hindi,


Leave a Comment

चिलचिलाती गर्मी के लिए बेस्ट है जयपुर का यह वाटर पार्क एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाए खीर गंगा, जो है हिमाचल की वादियों में बसी। गर्मी से मिलेगी राहत, सिर्फ दो हजार में घूमे दिल्ली के पास इन जगहों पर मई में बजट में घूमने के लिए डलहौजी से लेकर नैनीताल तक परफेक्ट हैं ये जगहें गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें शिमला – मनाली में शुरू हुई भारी बर्फबारी, देखे जन्नत से भी खूबसूरत तस्वीरें