नाशिक में घूमने की फेमस जगहों की जानकारी: Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi

Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi:- नासिक भारतीय राज्य महाराष्ट्र का एक पवित्र और धार्मिक शहर है, जो अपने भव्य मंदिरों, प्राचीन किलों, खूबसूरत झरनों और प्राकृतिक दृश्यों के लिए प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। समुद्र तल से लगभग 700 मीटर की ऊंचाई पर स्थित नासिक को भारत की शराब और अंगूर की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है।

पौराणिक कथाओं और दिलचस्प इतिहास में डूबा यह शहर कई प्राचीन मंदिरों और स्मारकों का घर है, जो इस जगह को एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल (Important Pilgrimage Site) है। भारत के सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक माने जाने वाले इस शहर में हर 12 साल में एक बार लगने वाले कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है। इस विशाल मेले में बड़ी संख्या में साधु और तीर्थयात्री भाग लेते हैं और पवित्र गोदावरी नदी में स्नान करते हैं।

Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi
Contents show

History Of Nashik in Hindiनासिक का इतिहास

नासिक महाराष्ट्र के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में पश्चिमी घाट पहाड़ों की तलहटी में गोदावरी नदी के तट पर स्थित है। यह एक प्राचीन शहर है जिसका उल्लेख Ramayana (रामायण) और Mahabharata (महाभारत) में मिलता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, यह वह स्थान है जहां भगवान राम ने अपनी पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ 14 साल का वनवास बिताया था और यहीं पर लक्ष्मण ने रावण की बहन शूर्पणखा की नाक काटी थी।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

इसके साथ ही इस शहर से जुड़ी कई रोचक कहानियां भी हैं जो पर्यटकों को खास तौर पर प्रभावित करती हैं। यही मुख्य कारण है कि नासिक को एक तीर्थ नगरी माना जाता है और इसका पौराणिक कथाओं से गहरा संबंध है जो पर्यटकों की रुचि को और बढ़ाता है।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से लगभग 170 किमी और पुणे से लगभग 212 किमी की दूरी पर स्थित नासिक भारत का एक खूबसूरत शहर (Beautiful City Of India) है जो कई शानदार पर्यटन स्थलों का घर है। इस मनमोहक शहर का खूबसूरत नजारा वाकई पर्यटकों का दिल जीत लेता है।

शांत जलवायु और सुहावने मौसम के साथ यह जगह हर तरह के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। पहाड़ियों से घिरा यह शहर एक अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करता है, साथ ही यह प्राचीन मंदिरों से भरा हुआ है, जिसे देखने के लिए हर साल लाखों पर्यटक और तीर्थयात्री इस स्थान पर आते हैं और इसके आकर्षक दृश्य और समृद्ध संस्कृति को अपने दिल में खट्टी-मीठी यादों के साथ बसा लेते हैं।

ऐतिहासिक रूप से, नासिक पर 16वीं शताब्दी में मुगल साम्राज्य और बाद में 1818 तक शक्तिशाली मराठों का शासन था। भारतीय स्वतंत्रता के कुछ महत्वपूर्ण स्वतंत्रता सेनानियों में नासिक के वीर सावरकर और अनंत लक्ष्मण खरे हैं।

Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi

Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi – नासिक में घूमने के लिए शीर्ष 10 प्रसिद्ध स्थान

Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi– सभी को मेरा प्रणाम, उम्मीद है आप सब बहुत अच्छे होंगे, पर्यटन की दृष्टि से नासिक शहर का महत्व हमेशा से ऊपर रहा है। यह एक जीवंत शहर है जो सह्याद्री पर्वत श्रृंखला की तलहटी में और गोदावरी नदी के तट पर स्थित है। नासिक में कई शानदार पर्यटक आकर्षण हैं जो साहसिक चाहने वालों को आकर्षित करते हैं।

यहां पर्यटक अपने परिवार और दोस्तों के साथ यादगार समय बिताते हैं, जिसके लिए यह जगह सबसे ज्यादा मशहूर है। यदि आप एक प्राचीन और शांत शहर की यात्रा की योजना बना रहे हैं जहां आप मंत्रमुग्ध कर देने वाले परिदृश्य के साथ एक ताज़ा अनुभव प्राप्त कर सकते हैं तो निश्चित रूप से नासिक आपके लिए सबसे अच्छा गंतव्य हो सकता है।

Trimbakeshwar Shiva Temple Nashik in Hindi – नासिक के धार्मिक स्थल त्रंबकेश्वर मंदिर

Trimbakeshwar Shiva Temple Nashik in Hindi

Trimbakeshwar भारत के महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में स्थित है। यह 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह नासिक रेलवे स्टेशन से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर काले पत्थरों से बना है और गोदावरी नदी के तट पर स्थित है। इस प्राचीन मंदिर का पुनर्निर्माण तीसरे पेशवा बालाजी यानी नाना साहब पेशवा ने करवाया था। इस ज्योतिर्लिंग की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस मंदिर के गड्ढे में तीन छोटे-छोटे लिंग हैं। समीपस्थ, जो ब्रह्मा, विष्णु और महेश का प्रतीक माना जाता है। अन्य सभी ज्योतिर्लिंगों में केवल भगवान शिव विराजमान हैं। ज्योतिर्लिंग ब्रम्हगिरी पर्वत के निकट उद्गम स्थल है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार प्राचीन काल में यह स्थान गौतम ऋषि का निवास स्थान था, गोहत्या के पाप से मुक्ति पाने के लिए गौतम ऋषि ने घोर तपस्या की थी, इसके बाद उन्होंने भगवान शिव से गंगा को यहां अवतरित करने का वरदान मांगा, जिसके बाद गंगा दक्षिण का अर्थात “गोदावरी नदी” की उत्पत्ति हुई। गोदावरी की उत्पत्ति के साथ ही गौतम ऋषि के आग्रह पर भगवान भोलेनाथ ने इस मंदिर में विराजमान होना स्वीकार किया। यहां तीन नेत्रों वाले शिव शंभु की उपस्थिति के कारण इस स्थान को त्र्यंबकेश्वर कहा गया।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now
Instagram Channel (Join Now) Follow Now

12 साल में एक बार आयोजित होने वाला कुंभ मेला इस मंदिर के आसपास के क्षेत्र में होता है। त्र्यंबकेश्वर मंदिर नासिक में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों (Best Place To Visit In Nashik) में से एक है।

Pandavleni Caves Nashik In Hindi – नासिक में पांडव लेनी गुफाएं

Pandavleni Caves Nashik In Hindi

Nashik Caves, या Pandavleni Caves, पहली शताब्दी ईसा पूर्व और तीसरी शताब्दी के बीच खुदी हुई 24 गुफाओं का एक समूह है। त्रिवश्मी पहाड़ियों के पठार पर स्थित पांडवलेनी गुफाएं 20 शताब्दी से अधिक पुरानी हैं और जैन राजाओं द्वारा बनाई गई थीं।

यहां आने वाले यात्री भगवान बुद्ध की मूर्तियों के साथ-साथ जैन शिलालेख और कलाकृतियां भी देख सकते हैं। यह कथित तौर पर क्षेत्र में एक अत्यंत पवित्र स्थान माना जाता है। Pandavleni Caves Nashik में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

Sita Gufaa Panchvati Nashik in Hindi – सीता गुफा पंचवटी नासिक

Sita Gufaa Panchvati Nashik in Hindi

गोदावरी नदी के दक्षिणी तट पर स्थित शहर के मुख्य भाग को नासिक कहा जाता है और गोदावरी के उत्तरी तट पर स्थित भाग को पंचवटी कहा जाता है। पूरा पंचवटी लगभग 5 किलोमीटर की दूरी में फैला हुआ है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, कहा जाता है कि भगवान राम, लक्ष्मण और सीता ने अपने 14 साल के वनवास के दौरान यहां पंचवटी में कुछ समय बिताया था। इस स्थान को पंचवटी इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहाँ चारों ओर बरगद के पाँच वृक्ष हैं। उस पर पंचवटी विराजमान है।

यह प्राचीन 5 बरगद के वृक्ष सीता गुफा के चारों ओर अंकित हैं। इसी Panchvati क्षेत्र के अंतर्गत सीता गुफा आती है। सीता गुफा बहुत बड़ी नहीं है, यह एक छोटी गुफा है लेकिन सीता गुफा आध्यात्मिक ऊर्जा से भरी हुई है क्योंकि सीता मैया ने अपने वनवास के दौरान यहां तपस्या की थी। जिन लोगों का दम घुटने लगता है उन्हें इस गुफा में बहुत सावधानी से प्रवेश करना चाहिए क्योंकि यह गुफा बहुत संकरी है।

Story of Sita Cave – सीता गुफा की कहानी:

जब भगवान राम के छोटे भाई लक्ष्मण ने रावण की बहन सुपंखा की नाक काट दी, तो 10,000 राक्षस भगवान राम और लक्ष्मण से लड़ने के लिए आए। उस समय पंचवटी घने जंगल में थी, इसलिए राम और लक्ष्मण को छिपाने के लिए माता सीता एक रात रुकी थीं। इस गुफा का निर्माण 1500 में हुआ था। इस गुफा की पहचान के लिए इसके चारों ओर 5 बरगद के पेड़ लगाए गए थे, इसलिए इस क्षेत्र को पंचवटी कहा जाता था।

Ramkund Tourist Places in Nashik in Hindi – नासिक में रामकुंड पर्यटन स्थल

रामकुंड महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में स्थित है। रामकुंड का अपने आप में एक बड़ा धार्मिक महत्व है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, कहा जाता है कि भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान इस कुंड के पानी में स्नान किया था। जिसके कारण इसका नाम रामकुंड पड़ा। सीता कुंड राम कुंड के पीछे स्थित है, जिसे अहिल्या कुंड भी कहा जाता है, इसके दक्षिण में दो मुख वाली हनुमान जी की मूर्ति है, इसके सामने हनुमान कुंड है, आगे दशाश्वमेध तीर्थ है।

गोदावरी नदी का उद्गम त्र्यंबकेश्वर के पास है लेकिन भक्त पंचवटी में गोदावरी में स्नान करते हैं। गोदावरी में कई कुंड बनाए गए हैं, जो बेहद पवित्र माने जाते हैं। राम कुंड, सीता कुंड, लक्ष्मण कुंड, धनुष कुंड आदि तीर्थ हैं, लेकिन इन सभी में सबसे महत्वपूर्ण राम कुंड है। रामकुंड के दक्षिण में अस्थिविलय तीर्थ है जहां मृत लोगों की अस्थियां डाली जाती हैं।

Saptashrungi Nashik in Hindi – नासिक के दर्शनीय स्थल सप्तश्रृंगी

Saptashrungi Nashik in Hindi

सप्तशृंगी नासिक में एक पवित्र और प्रसिद्ध स्थान है। सप्तश्रंगी मंदिर 108 शक्तिपीठों में से एक है। यह नासिक शहर से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सप्तशृंगी शब्द का अर्थ है सात पर्वत शिखर। यह लोकप्रिय पर्यटन स्थल एक खूबसूरत पर्वत श्रृंखला से घिरा हुआ है जो इस जगह को एक अनूठा रूप देता है। सप्तशृंगी मंदिर मुख्य रूप से देवी सप्तशृंगी को समर्पित है जो देवी भगवती का एक रूप हैं। यह नासिक में घूमने के लिए आकर्षक जगहों में से एक है।

यह स्थान बहुत पवित्र माना जाता है क्योंकि भगवान शिव की पत्नी सती के शरीर को ले जाते समय उनके शरीर के अंग इस स्थान पर गिरे थे। पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान राम, सीता और लक्ष्मण अपने 14 साल के वनवास के दौरान देवी का आशीर्वाद लेने के लिए यहां आए थे।

Sula Vineyards Nashik in Hindiनासिक के पर्यटक स्थल सुला वाइनयार्ड

जिस तरह नागपुर संतरे के लिए जाना जाता है, उसी तरह नासिक भी अंगूर के लिए जाना जाता है। नासिक में अंगूर का उत्पादन होने के कारण Sula Vineyards यहाँ स्थित है। यह भारत में सबसे अच्छा वाइनरी उत्पादन केंद्र है। सुला की कुल उत्पादन क्षमता 5 लाख लीटर से अधिक है। यहाँ एक वाइन चखने का कमरा है जहाँ विभिन्न पर्यटक वाइन का स्वाद चखते हैं और फिर उसे खरीदते हैं। अगर आप शराब के शौकीन हैं तो यहां जरूर जाएं, मजा आएगा।

सुला वाइनयार्ड कहाँ है –

Sula Vineyards Nashik शहर से 14 किमी दूर डिंडोरी गांव में स्थित है। हरे-भरे पहाड़ों और खूबसूरत झील से घिरा यह गांव बेहद खूबसूरत लगता है। राजीव सामंत के स्वामित्व वाले इस गांव में देश का सबसे प्रसिद्ध सुला वाइन यार्ड स्थित है। इस समय यहां रोजाना 8 से 9 हजार टन अंगूरों की पेराई करके शराब बनाई जाती है। इन अंगूरों को इटालियन प्रेस में पीसकर व्हाइट और रेड वाइन तैयार की जाती है। यह शराब सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दूसरे देशों में भी बिकती है।

Sula Vineyards Nashik in Hindi

Muktidham Temple Nashik In Hindi – नासिक के दर्शनीय स्थल मुक्तिधाम मंदिर नासिक

Muktidham Temple Nashik शहर से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। नासिक के सबसे प्रमुख स्थानों में से एक, मुक्तिधाम मंदिर 1971 में मकराना, राजस्थान के सफेद संगमरमर से बनाया गया था और यह अपनी विशिष्ट वास्तुकला के लिए आकर्षण का केंद्र है। मुक्तिधाम मंदिर में सभी 12 ज्योतिर्लिंगों की एक प्रति है, जिसके कारण इस मंदिर को बहुत पवित्र माना जाता है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि इसकी दीवारों पर पूरी भगवत गीता के श्लोक खुदे हुए हैं।

Artillery Centre Nashik In Hindi – नासिक में घूमने की जगह तोपखाना केंद्र

नासिक में पांडवलेनी गुफाओं के पीछे स्थित तोपखाना केंद्र एशिया का सबसे बड़ा तोपखाना केंद्र है। कहा जाता है कि आजादी के वक्त इसे पाकिस्तान से नासिक लाया गया था। इस स्थान पर सैनिकों को कठोर सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है और यह सैनिकों को ‘गोफर गन’ चलाने का प्रशिक्षण देता है। आर्टिलरी सेंटर में एक युद्ध स्मारक और एक आर्टिलरी संग्रहालय भी है जो भारत के सैनिकों के इतिहास को बताता है।

Dugarwadi Waterfall Tourist Places in Nashik in Hindi – नासिक में दुगरवाड़ी वॉटरफॉल पर्यटन स्थल

Dugarwadi Waterfall Tourist Places in Nashik in Hindi

नासिक से लगभग 37 किमी की दूरी पर स्थित दुगरवाड़ी Waterfall महाराष्ट्र का एक सुंदर Waterfall है। यह झरना हरी-भरी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। खासतौर पर मानसून के दौरान इसकी खूबसूरती और बढ़ जाती है। शांत वातावरण और हरी-भरी हरियाली से घिरा यह स्थान काफी आकर्षक दृश्य प्रस्तुत करता है। Dugarwadi Waterfall Nashik के आकर्षक स्थानों में से एक है।

Harihar Fort is the most popular place in Nashik – नासिक का सबसे लोकप्रिय जगह हरिहर किला

नासिक शहर से लगभग 40 किमी की दूरी पर स्थित Harihar Fort महाराष्ट्र का एक महत्वपूर्ण किला है। हरिहर किला, जिसे हरिहरगढ़ किले के नाम से भी जाना जाता है, एक पहाड़ी किला है जो समुद्र तल से 3676 फीट ऊपर है। हर साल यह शानदार किला हजारों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

Harihar Fort या हर्षगढ़ किला एक ऐसा किला है जो सह्याद्री पर्वतमाला की हरी-भरी पहाड़ियों के ऊपर स्थित है। हरिहर किले का मुख्य आकर्षण शीर्ष पर प्रतिष्ठित सीढ़ियाँ हैं जो लगभग 80 डिग्री लंबवत झुकी हुई हैं। किले में भगवान शिव, भगवान हनुमान और नंदी की मूर्तियां हैं जो देखने लायक हैं। इसके अलावा यहां चट्टानों को काटकर एक छोटा तालाब बनाया गया है। यादव वंश का यह किला आज खंडहर हो चुका है और पर्यटकों के लिए एक साहसिक स्थल है।

Best Time To Visit Nashik in Hindi – नासिक घूमने के लिए सबसे अच्छा समय

अगर आप धार्मिक और ऐतिहासिक शहर नासिक की यात्रा करना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि यहां घूमने का सबसे अच्छा समय कौन सा है, तो हम आपको बता दें कि नासिक घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से फरवरी तक है। है। नासिक में सर्दियों का मौसम इन महीनों में आपके लिए यहां की यात्रा करने के लिए अनुकूल होता है।

नासिक गर्मियों में गर्म और सर्दियों में बहुत ठंडा रहता है। गर्मी के मौसम में यहाँ का तापमान 39 °C से अधिक हो सकता है और सर्दियों में 5 °C तक गिर जाता है। नासिक में जुलाई और सितंबर के बीच मानसून की बारिश होती है, जो शहर को हरा-भरा बना देती है।

फरवरी-मार्च अप्रैल में जाएंगे तो यहां पर अंगूर का मजा ले सकते हैं | 

Top 5 Monsoon Treks in Maharashtra

How To Reach Nashik In Hindi – नासिक कैसे पहुंचे हैं 

नासिक महाराष्ट्र का प्रमुख शहर है, यहां तक पहुंचने के लिए आप अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी सड़क मार्ग, रेल मार्ग और हवाई मार्ग चुन सकते हैं।

  • अगर आप 600-700 किलोमीटर के करीब से आ रहे हैं तो आप बस से यात्रा कर सकते हैं। इससे अधिक दूरी बस से तय करना कष्टकारी होगा। नासिक की सभी जगहों से अच्छी कनेक्टिविटी है। आप अपने वाहनों से भी आ सकते हैं।
  • नासिक रेलवे स्टेशन देश के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। अगर आप ट्रेन से सफर करना चाहते हैं तो अपने रेलवे स्टेशन से ट्रेन का टाइम टेबल चेक करें। अगर आपको नासिक के लिए कोई ट्रेन नहीं मिलती है तो आप मुंबई आ सकते हैं। नासिक मुंबई से 166 किलोमीटर दूर है। इस दूरी को आप बस या ट्रेन से तय कर सकते हैं।
  • नासिक में कोई हवाई अड्डा नहीं है, इसका निकटतम हवाई अड्डा मुंबई छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। मुंबई आकर आप बस या ट्रेन से नासिक आ सकते हैं। मुंबई का हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

Tips for Travelers to Visit Nashik – नासिक घूमने के लिए यात्रियों के लिए टिप्स

  • अगर आप नासिक के सभी पर्यटन स्थलों को अच्छे से घूमना चाहते हैं तो आपको 2 दिन और एक रात चाहिए उसके बाद आप शिरडी घूमने जा सकते हैं या औरंगाबाद घूमने आ सकते हैं।
  • यदि आपने 1 दिन की योजना बनाई है तो केवल मुख्य पर्यटन स्थल की यात्रा करें।
  • अगर आप समूह में नासिक घूमने आए हैं तो रेलवे स्टेशन के बाहर आएं, यहां आपको कई ड्राइवर मिल जाएंगे, कोई भी वाहन बुक कर लें जो आपको नासिक के पर्यटन स्थलों पर ले जा सके, बस ध्यान रहे कि आप कोई दलाल नहीं ले रहे हैं। उनके संपर्क में न आएं, सीधे बाहर आकर चालकों से सीधे बात करें, तो आपके पैसे बचेंगे और किसी को एडवांस पैसा नहीं देंगे।
  • आप नासिक रेलवे स्टेशन से निकलेंगे तो वहां कई दलाल मिल जाएंगे, वे कहेंगे कि मेरे पास कार है, लेकिन अब उन पर भरोसा मत करो, रेलवे स्टेशन से बस स्टैंड की ओर निकल आओ।
  • सबसे पहले आप नासिक में त्र्यंबकेश्वर महादेव के दर्शन करें, उसके बाद आप अन्य स्थानों की यात्रा करें। त्रयंबकेश्वर महादेव में सोमवार को सावन के समय काफी भीड़ रहती है। सावन के अलावा किसी भी समय त्र्यंबकेश्वर महादेव जाएंगे तो भीड़ कम होगी और दर्शन जल्दी हो जाएंगे लेकिन सावन में काफी भीड़ होती है। त्र्यंबकेश्वर घूमने के बाद आप ब्रह्मगिरि पर्वत पर दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिए जा सकते हैं। इसके बाद आप अन्य जगहों की सैर कर सकते हैं।
  • अगर आप ब्रह्मगिरि पर्वत की यात्रा पर जा रहे हैं तो वहां के लिए एक गाइड जरूर लें, आपको पास में ही एक गाइड मिल जाएगा, यहां बहुत से बंदर हैं, आप उन्हें खाने के लिए कुछ ले जा सकते हैं, अपनी आस्था के अनुसार ब्रह्मगिरी पर्वत के अच्छी तरह से दर्शन कर लें। घूमने में करीब 3 घंटे का समय लगेगा।
Top 5 Monsoon Treks in Maharashtra

Tags Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, Top 10 Tourist Place Visit in Nashik in Hindi, Top 10 Tourist Place In Nashik in Hindi, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, History of Nashik In Hindi, Tourist place In Nashik, Top 10 Tourist Place VIsit In Nashik, Trimbakeshwar Shiva Temple Nashik, Sula Vineyards Nashik, Pandavleni Caves Nashik, Muktidham Temple Nashik, Sita Gufaa Panchvati Nashik, Coin Museum Nashik, Saptashrungi Nashik, Kalaram Mandir Nashik, Artillery Centre Nashik, Ramkund Nashik, Best Time To Visit Nashik in Hindi, China Town Nashik, Barbeque Nation Nashik, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi, Top 10 Famous Places To Visit In Nashik In Hindi,


Leave a Comment

बेहद सुकून और प्रदूषण मुक्त सीक्रेट हिल स्टेशन जो है नैनीताल के करीब चिलचिलाती गर्मी के लिए बेस्ट है जयपुर का यह वाटर पार्क एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाए खीर गंगा, जो है हिमाचल की वादियों में बसी। गर्मी से मिलेगी राहत, सिर्फ दो हजार में घूमे दिल्ली के पास इन जगहों पर मई में बजट में घूमने के लिए डलहौजी से लेकर नैनीताल तक परफेक्ट हैं ये जगहें गर्मी की छुट्टियों में घूमने का ले भरपूर मजा इन खूबसूरत हिल स्टेशन पर इस गर्मी जयपुर में एन्जॉय करने के लिए बेस्ट वाटर पार्क 2024 चिलचिलाती गर्मी में कूल वाइब्स के लिए घूम आएं इन ठंडी जगहों पर जयपुर के न्यू हवाई-जहाज वॉटर पार्क के टिकट में बड़ा बदलाव, जानिए जयपुर का यह फेमस वाटर पार्क मार्च 2024 में इस डेट को हो रहा है ओपन घूमे भारत के 10 सबसे खूबसूरत एवं रोमांटिक हनीमून डेस्टिनेशन वीकेंड पर दिल्ली के आसपास घूमने वाली 10 बेहतरीन जगहें मसूरी में है भीड़ तो घूमे चकराता, खूबसूरत नजारा आपका मन मोह लेगा। जेब में रखिए 5 हजार और घूम आएं इन दिल को छू लेने वाली जगहों पर वीकेंड में दिल्ली से 4 घंटे के अंदर घूमने की बेहद खूबसूरत जगहे गुलाबी शहर कहे जाने वाले जयपुर के प्लेसेस की खूबसूरत तस्वीरें रिवर राफ्टिंग और ट्रैकिंग के लिए फेमस है उत्तराखंड का ये छोटा कश्मीर उत्तराखंड का सीक्रेट हिल स्टेशन जहां बसती है शांति और सुंदरता हनीमून के लिए बेस्ट हैं भारत की ये सस्ती और सबसे रोमांटिक जगहें Gulmarg Snowfall: गुलमर्ग में बिछी बर्फ की सफेद चादर, देखे तस्वीरें